सफेद दाग की क्रीम व इलाज के बारे में सभी लोगो को पता होना चाहिए क्योकि आज के समय में देखा जायें तो कुछ लोगो के हाथ , हथेली , मुंह में सफेद दाग के चकते पढ़ जाते है | अक्सर यह बीमारी महिलाओं को ज्यादा होती है | इस बीमारी का अब तक तो कोई इलाज नही था , लेकिन अब आयुर्वेदिक डॉक्टरो ने इस सफेद दाग की बीमारी का इलाज खोज निकाला है |

सफ़ेद दाग एक त्वचा रोग होता है जिसके अनुसार आप सफेद दागो से मुक्ति पा सकते है , तो आइये हम आपको सफेद दागो से मुक्ति पाने के लिए कुछ क्रीम व दवाइयों के बारे में बताते है , जिन्हें इस्तेमाल करने से आप के सफेद दाग अच्छी तरह से गायब हो जायंगे |

सफेद दाग होने के कारण –

सफेद दाग अक्सर शरीर में अनुवांशिक वा कैल्शियम की कमी और भी कई कारणों से हो सकता है | सफेद दाग हमारे शरीर की त्वचा में रंग देने वाली कोशिकाओं को पूरी तरह से खत्म करने के बाद होते है तथा ये सेल्स जैसे जैसे खत्म होने लगते है| ठीक उसी प्रकार हमारे शरीर में सफेद दाग फैलना शुरू हो जाते है , और फिर एक समय ऐसा आता है जब सफेद दाग पूरे शरीर में फ़ैल जाते है |

सफेद दाग की क्रीम  –

अभी हाल ही में कुछ चिकित्सको ने खोज करके एक ऐसी दवा बनायी है , जिसके इस्तेमाल करने से आप यकीन मानिए आप सफेद दागो से छुटकारा पा सकते है | जिस दवा का की खोज की है उसका नाम है ल्युकोस्किन इस दवा को आप अपने शरीर में जंहा भी सफेद दाग हो वहा पर इस दबा को धीरे धीरे मालिश करे या लगा ले |

इससे त्वचा के दाग खत्म हो जायंगे तथा त्वचा अपने पुराने रंग में वापिस आ जायगी , इस दवा को कौंच , मंडूकपनीर , विषनाग , एलोविरा , अर्क , बावची को मिला के बनाई गयी है | इस दवा को पहले ही कई चर्म रोगों को सही करने के लिए उपयोग की जा चुकी है , यह चर्म रोगों को ठीक करने के लिए पहले से ही बहुत विख्यात है |

सफेद दाग की क्रीम के प्रकार  –

ल्युकोस्किन दाग हटाने की एक ऐसी क्रीम है जो दो प्रकार में मिलती है | लिक्विड और ओयेंटमेंट इसके दोनों प्रकार आपको सफेद दागो से छुटकारा दिलाने में मदद करते है | इसकी बाज़ार में कीमत सात सौ या आठ सौ रुपए है , इस दबा को आपको प्रतिदीन नियमित रूप से 2 -3 महीने तक लगानी है , फिर यह अपना असर दिखाना चालू करती है | वैसे तो इसका उपयोग थोड़ा मंहगा है लेकिन इसका इस्तेमाल जरुर करना चाहिए |

इस क्रीम को इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले 20-25 बूंद एक खाली कप में डाल ले और हाँ इस दवा का उपयोग खाली पेट किया जाता है फिर इसे कप में डालकर पीले तथा क्रीम को उसी जगह लगाये जंहा पर सफेद दाग हो तथा उसपे मालिश भी करे | ऐसा आप नियमित रूप से करे व इस दबा के साथ साथ आपको अच्छा आहार लेना भी जरूरी है क्योकि दबा का असर भी इससे जल्दी होने लगता है |

आपको योग भी करना जरूरी है क्योकी अच्छे आहार के साथ आपको अनुलोम विलोम प्राणायाम , कपालभाती प्रणायाम करेंगे तो आप पे दवाई का असर जल्दी होगा | तेल , मिर्च व तेज़ मसालों वाले भोजनों से आपको दुरी बनानी पड़ेगी तथा तेज़ धूप , धुम्रपान , एल्कोहल से भी बचे |

इस रोग में कुछ परहेज बताये है :

  • खटाई की चीजों का बिलकुल सेवन न करे |
  • लौकी का रस अधिक से अधिक पिये |
  • नमक , दूध दही का भी न के बराबर सेवन करे |
  • हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन अधिक करे |
  • शरीर पे शेम्पू व साबुन नही लगाये |

आइये हम आपको इस आयुर्वेदिक दवाई के अलावा एक पतंजलि दवा के बारे में बताते है , जो सफेद दाग हटाने में बहुत कारग़र साबित हुई है |

खादरिस्ष्टा –

यह पतंजलि की सफेद दाग हटाने की बहुत अच्छी दवा  है | इस दवा को खाना खाने के बाद खाना होता है | यह ख़ून की गंदगी को दूर कर उसे साफ करती है , इस दबा को 30 ML की तुलना में लेना चाहिए तथा यह पाचन किर्या को भी सही करती है |

गंधक रसायन –

इस दवा का इस्तेमाल आप प्रतिदिन हल्के गुनगुने पानी के साथ दिन में दो बार सुबह वा शाम को खाना खाने के बाद करे|

महालटी –

इस दवा का सेवन आपको प्रतिदिन खाली पेट दूध के साथ आधी चम्मच के साथ करना है |

बकुची का तेल –

इस तेल का इस्तेमाल शरीर पे जहा सफेद दाग हो वहा पर अच्छी तरह से मालिश करे ऐसा करने से यह सफेद दागो को फैलने से रोकता है तथा यह शरीर में खुजली होने से भी रोकता है |

यह पूरी खुराक रोगी को दी जाती है इसके दो तीन महीनों के सेवन में ही आपको सफेद दागो में फर्क दिखने लगेगा और आपको ये बात बता दे की ऎसी कोई दवा बनी नही जो आपको जल्दी आराम दे दे इसलिए आपको थोडा तो इंतजार करना पड़ेगा आप यकीन मानिये इस दवा से आपके सफेद दागो में काफी सुधार आएगा |

और पढ़े ( सफ़ेद दाग से कैसे छुटकारा पायें कुछ आसान उपायों से )

डॉक्टर विक्रांत गौर

(B.A.M.S.) रजिस्ट्रेशन न  - DBCP / A / 8062 पूर्व वरिष्ठ सलाहकार  जीवा आयुर्वेद दिल्ली ,  फरीदाबाद मेडिकल सेंटर ,पारख हॉस्पिटल फरीदाबाद में 5 साल का अनुभव  पाइल्स, हेयर फॉल, स्किन प्रॉब्लम, लिकोरिया रोगों  में एक्सपर्ट

Join the Conversation

3 Comments

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.