बवासीर या पिल्स एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है |बवासीर इंसान को दो प्रकार से हो सकती है |साधारण भाषा मई इसे खुनी और बादीबवासीर के नाम से भी जाना जाता है |पाइल्स मे गुदा के अन्दर ओर बहर आस पास के क्षेत्र मे सूजन आ जाती है

खूनी बवासीर :

खूनी बवासीर में ज्यादा कोई तकलीफ नहीं होती है बीएस खून आता है और मस्सा हो जाता है आखिरी स्टेज तक यह मस्सा ऐसा हो जाता है किसे छूनेपर या हिलाने पर इस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है |

बादी बवासीर:

बादी बवासीर में क्या होता है की पेट बहुत जादा खराब रहता है ,गैस बनती है ,कवज बना रहता है |लेकिन हम आपको बता दे की पेट खराब होने से बवासीर नहीं होता है वल्कि बवासीर होने की वजह से पेट खराब होता है |

बवासीर के होने वाले कारण :

  • बवासीर होने का एक कारण अनुवांशिकता भी हो सकता है ,यदि आपके परिवार मे किसी को यह समस्या है तो आपको भी हो सकती है |
  • वे व्यक्ति जो अपना रोजगार या काम करने के लिए घंटो घंटो भर एक ही स्थान पर खड़े रहते है तो इस जादा दिएर तक खड़े होने की अवस्था भी बवासीर का कारण बन सकती है |
  • पेट मे होने वाली कवजकी समस्या भी बवासीर का कारण बन सकती है |
  • आपके शरीर का आतंरिक वजन भी बवासीर का कारण बन सकता है |कई डॉक्टर्स का ये कहना है की ज्यादा मोटापा भी कभी कभी बवासीर को पैदा कर देता है |
  • आपको अपना आहार भी अच्छा रखना चाहिए अगर आप अच्छा भोजन जिसमे फाइबर ,अच्छे बितामिंस इत्यादि ना हो ओर इनकी जगह आप बाहर का ज्यादा तला भुना खा रहे है तो शरीर मे फाइबर की कमी होने के कारण भी आपको बवासीर की समस्या हो सकती है |
  • आज के समय मे लोग खाना खाते है ओर सो जाते है या फिर अपने काम पर निकल जाते है जिस कारण से वो कोई श्रम या मेहनत वयायाम नहीं करते है जिस वजह से उसना खाना पचता नहीं है ओर मोटापा बढता जाता है एक यह भी कारण हो सकता है बवासीर के बढने का |
  • महिलाओ को गर्भावस्था के दोरान भी बवासीर हो जाता है लेकिन यह इतना खतरनाक नहीं होता है यह अपने आप ही चला जाता है सही हो जाता है लेकिन हमे फिर भी एक बार डोक्टर से परामर्श जरूर कारण चाहिए|

बवासीर ठीक करने के घरेलु उपाए :

  • छाछ का अधिक सेवन करे :

बवासीर को दूर करने मे छाछ एक बहुत ही फायदेमंद चीज है हमे रोजाना एक गिलास मे छाछ ओर उसके साथ नमक और अजवायन मिलाकर रोजाना सेवन करे आपको बवासीर मे काफी आराम मिलेगा|

  • बादाम का सेवन करे :

बादाम मे अच्छी मात्रा मे फाइबर के स्त्रोत पाए जाते है ओर बवासीर के एक कारण फाइबर की कमी भी होती है तो हमे रोजाना शुबह रात बादाम का सेवन करना चाहिए इससे बवासीर मे काफी आराम मिलेगा |

  • बर्फ से सिकाई करे :

बवासीर वाले क्षेत्र मे ठंडी बर्फ से उसके अगल बगल के स्थान मे बर्फ की सिकाई करने से दर्द ओर सूजन मे काफी आराम मिलता है |

  • तिल का सेवन करे :

तिल को बवासीर दूर करने के लिए एक अच्छा स्त्रोत माना गया है |इसका सेवन करने से दस्त कवज मे राहत मिलती है और यह गुदा क्षेत्र को नरम बना देता है दर्द से बचाता है और सूजन कम करने मे सहायक होता है |

  • मूली को आहार मे जोड़े :

बवासीर को कम करने के लिए मूली को बहुत अच्छा उपहार माना गया है ,एक गिलास मूलीके रस मे नमक’ मिलाकर रोजाना पीने से बवासीर मे आराम मिलता है |

और पढे –(Bawaseer | जानिये बवासीर का उपचार | Bawaseer Ka Ilaj | Bawaseer Ka Ilaj In Hindi.)
मानवेन्द्र सिंह

मानवेन्द्र सिंह

मानवेंद्र सिंह सॉफ्ट प्रमोशन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड में फिटनेस और हेल्थ ब्लॉगर हैं। उन्होंने 2006 में BHM स्नातक की डिग्री ली है। उन्हें स्वास्थ्य एवं विज्ञान अनुसंधान के क्षेत्र में लेखन का आनंद मिलता है।

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.