टाईफाइड के घरेलु इलाज – HOME REMEDIES FOR TYPHOID IN HINDI

0
163
टाईफाइड के घरेलु इलाज - HOME REMEDIES FOR TYPHOID IN HINDI

टाईफाइड के मुख्य लक्षण और टाईफाइड के घरेलु इलाज का पता होना बहुत जरुरी होता है क्योंकि लापरवाही करने पर यह बुखार जानलेवा भी हो सकता है | टाईफाईड बुख़ार होने का मुख्य कारण साल्मोनेला टाइफी बेक्टीरिया से होता है यह इन्फ़क्टेड पानी और इन्फ़क्टेड फ़ूड का प्रयोग करने से होता है |

किसी टाईफाईड मरीज का झुटा पानी पीने से या टाईफाईड के मरीज के साथ ओरल और ऐनल सम्बन्ध बनाने से , इन्फक्टेड पानी या बिना साफ़ सब्जियों के सेवन से यह बैक्टीरिया बहुत तेजी से फैलता है | बैक्टीरिया के शरीर मे जाने के ६ से 20 दिन के बाद टाईफाइड का वायरस अपना असर दिखाना शुरु कर देता है |

आइये जानते है टाईफाइड के मुख्य लक्षण – 

  • भूख ना लगने की परेशानी
  • पेट मे दर्द होना
  • सर दर्द होना
  • कम दिखाई देना, शारीर मे दर्द होना
  • लो डिग्री तापमान का भुखार
  • ऑतो मे खून का आना, दस्त लगना

टाईफाईड के प्रमुख प्रकार –

  • FRIST STAGE :-  शुरु शुरु मे मरीज को धीमा बुखार आना शुरु हो जाता है लेकिन धीरे धीरे समय के साथ सर दर्द शरीर दर्द होना और पेट दर्द की परेशानी शुरु हो जाती है |
  • SECOND STAGE :-  बुखार बढ़ जाता है और लो डिग्री तक बुखार आना शुरु हो जाता है | और शारीर मे दर्द होने लगता है
  • THIRD STAGE :- इसमे मरीज गंभीर हालत मे आ जाता है | और साँस लेने मे परेशानी आने लगती है | और कई प्रकार की परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है  |

इसीलिये दोस्तों अच्छा यही है की टाईफाईड का पाता चलते ही इसका इलाज समय रहते करा लेना चाहिये  |

तो आइये जानते है टईफाइड के घरेलु इलाज के  उपाय –

टाईफाइड के इलाज के लिये मेडिकल जाँच कराके एंटीबायोटिक का इस्तमाल करना फायदेमंद होता है | मगर इन दवाईयों के साथ कुछ घरेलु उपाय के प्रयोग से इस बीमारी से मुक्ति पायी जा सकती है |

टईफाइड के घरेलु इलाज के उपाय – 

  • सेब का सिरका :-  बुखार मे सेब के सिरका का इस्तमाल बहुत फायदेमंद होता है | इसमे बड़ी मात्रा मे एसिडिक प्रोपर्टी होती जो हमको टाईफाईड जैसी बीमारी से करती  है |
  • लहसुन :- लहसुन मे एंटीमिक्रोबिल गुण होती है जो टाईफाईड बेक्टीरिया को खत्म करने मे मदद करती है | इसके साथ साथ ये बॉडी से गन्दा टोक्सिंस को बहार
  • नरियल का पानी :- नारियल का पानी मे सोडियम , कैल्सियम , वसा , कार्बोहाइड्रेट  जैसे तत्व बहुत अधिक मात्रा मे होता है | जो हमारें मेटाबोलिज्म को बूस्ट करता है और बॉडी को उर्जा देता है |
  • आनर :- अनार का जूस टाईफाइड की रिस्क को बॉडी मे कम कर देता है और डिहाइड्रेशन मे यह बहुत लाभकारी होता है|
  • संतरे का जूस :- संतरे मे बहुत विटामिन और मिनरल होते है | जो हमारी कमजोरी को दूर करते है और पाचन तंत्र को सही करते है |
  • नीबू :- नीबू मे हाई विटामिन c पाया जाता है | जो टाईफाइड के दौरान पाचन तंत्र मे होने वाली परेशानी को कम कर देता है |
  • शहद :- शहद मे कई प्रकार की विटामिन और मिनिरल होते है जो ज्यादातर सभी बिमारियों के  इलाज मे इस्तमाल मे लाये जाते है यह पाचन तंत्र , किडनी और बॉडी के तापमान को सामान्य रखने मे मदद करता है  |

दोस्तों अगर आप को भी टाईफाईड  की परेशनी है तो डॉक्टर से इलाज ले और इन फ़ूड का इस्तमाल करे जिससे आप इस  समस्या से बहुत जल्द ही छुटकारा पा लेंगे |

और पढ़े – (  टाईफाईड क्या है कैसे होता है ? – WHAT IS TYPHOID FEVER IN HINDI ? )

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.