Hepatitis-A Treatment In Hindi

हेपेटाइटिस व्यक्ति के लीवर में होने वाली एक गंभीर समस्या होती है | जो संक्रमण के कारण व्यक्ति के शरीर में जन्म लेती है | जिसका अगर सही समय पर इलाज ना कराया जाये | तो व्यक्ति को गंभीर समस्या से सामना करना पड़ेगा | हेपेटाइटिस एक प्रकार की वायरस से जुडी समस्या होती है | जो व्यक्ति को किसी भी माध्यम से प्रभावित कर सकती है | हेपेटाइटिस कई प्रकार व चरण होते है | दोस्तो आज हम आपको हेपेटाइटिस ए से जुडी सभी समस्या के बारे में पूर्ण जानकारी देंगे तो आइये जानते है | हेपेटाइटिस को विस्तार पूर्वक से

हेपेटाइटिस ए क्या है और किस वजह से हमारे शरीर को प्रभावित करता है

हेपेटाइटिस ए वायरस के द्वारा व्यक्ति के शरीर में जन्म लेता है | यह एक प्रकार की संक्रामक समस्या होती है | जो व्यक्ति के लीवर को प्रभावित करती है | इस रोग की वजह से व्यक्ति के लीवर में सुजन की परेशानी आने लगती है | यह रोग कई चरणों में होता है | तो आइये जानते है उन चरणों के बारे में |

जाने बीमारी के चरणों के बारे में

प्रथम चरण

प्रथम चरण में व्यक्ति को शुरआती समय में बहुत तेज दर्द की समस्या होती है | दर्द की वजह से भूख में कमी व शरीर पिला पड़ने लगता है | अधिकतर देखा गया है | यह लक्षण कुछ ही समय में व्यक्ति के शरीर से गुम हो जाते है | इन लक्षण की वजह से व्यक्ति का पाचन तंत्र खरब हो जाता है |

दूसरा चरण

दूसरा चार व्यक्ति को कई समय बाद परेशान करता है | सीधे शब्दों में कहे तो जब हेपेटाइटिस व्यक्ति के शरीर में घर कर लेता है | इस चरण में व्यक्ति को लीवर में सुजन की समस्या आने लगती है |

तीसरा चरण या लीवर सिरोसिस की समस्या का आना

यदि लीवर में स्तिथ ऊतक में घाव होने लगता है | यह समस्या अपने आप ठीक नही हो पाती है | इस घाव के कारण व्यक्ति की ग्रासनली की नशों से रक्त निकलने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है |

लास्ट चरण

इस चरण में व्यक्ति का लीवर पूरी तरह खराब हो जाता है | इस वजह से व्यक्ति को लीवर का कैंसर जैसी समस्या भी हो जाती है | इस चरण में पीलिया, भूख की कमी, पेट में सूजन की समस्या अधिक होती है | इसके साथ ही साथ व्यक्ति की ग्रासनली से रक्त व तंत्रिका तंत्र पूरी तरह खरब हो जाता है |

जाने इस रोग के कारणों के बारे में

  • गन्दा पानी पीने की वजह से |
  • दूषित तालाब की मछली का सेवन करने की वजह से |
  • संक्रमित महिला या व्यक्ति के साथ यौन संबंध की वजह से |
  • शौचालय के बाद बिना हांथ धुले भोजन का सेवन करने से |
  • दूषित भोजन का सेवन करने से |
  • संक्रमित व्यक्ति से अधिक मिलने जुलने से |

इसके लक्षण के बारे में |

हेपेटाइटिस ए होने पर शरीर में कई प्रकार के लक्षण देखने को मिलते है | आइये जानते है | उन लक्षणों के बारे में |

  • बहुत जल्दी थकान हो जाना |
  • गाढ़े रंग का पेशाब का आना |
  • मतली और उल्टी जैसी समस्या का होना |
  • भूख में कमी आ जाना |
  • अधिक पेट दर्द का होना |
  • नियमित बुखार का आना |
  • शरीर के सभी जोडों में दर्द का होना |
  • त्वचा व आँखों में पीलापन आने लगना |

इस समस्या का आसान इलाज

हेपेटाइटिस ए जैसी समस्या शरीर अपने आप ठीक करता है | इसके लिए आपको अपनी दिनचर्या में बदलाव लाना पड़ेगा | जैसा की

  • नियमित संतुलित व समय पर भोजन करे |
  • सुबह के समय जरुर टहलने जाये |
  • धुम्रपान का सेवन बिलकुल भी ना करे |
  • यौन सम्बंद बनाते समय महिला व पुरुष दोनों कंडोम का प्रयोग जरुर करे |
  • नियमित जूस व फलो का सेवन करे |
  • दिन में एक बार योगा जरुर करे |
  • शराब का सेवन बंद कर दे |
  • भोजन में हरी सब्जियों का अधिक प्रयोग करे |

इस रोग का बचाव कैसे करे |

हेपेटाइटिस ए जैसी समस्या से बचने के लिए आपको हेपेटाइटिस ए का टीका जरुर लगवाना चाहिये | टीकाकरण से हमारे शरीर में हेपेटाइटिस होने का खतरा बहुत कम हो जाता है | इस साथ साथ आपको खाना खाने से पहले अपने हांथो को अच्छी तरह से धो लेना चाहिये | सडक के किनारे विकने वाली किसी भी चीज का सेवन कम से कम करे | खुले पानी का सेवन बिलकुल भी ना करे | खाना बनाते समय कटी हुई सब्जियों को साफ़ जगह पर ही रखे | इन सब सावधानियों के द्वारा आप अपने शरीर को हेपेटाइटिस ए से मुक्त बना सकते है |

 

 

मानवेन्द्र सिंह

मानवेन्द्र सिंह

मानवेंद्र सिंह सॉफ्ट प्रमोशन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड में फिटनेस और हेल्थ ब्लॉगर हैं। उन्होंने 2006 में BHM स्नातक की डिग्री ली है। उन्हें स्वास्थ्य एवं विज्ञान अनुसंधान के क्षेत्र में लेखन का आनंद मिलता है।

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.