क्या कमी होती है शरीर में जब इंसान धुम्रपान को अपना सहारा बनाता है –

0
242
धुम्रपान के नुकशान

धूम्रपान के नियमित सेवन से इसमें मौजूद विषैले तत्व के कारण हमारी त्वचा में झुर्रियां होने लगती हैं, और हमारा शरीर समय से पहले बूढ़ा दिखने लगता हैं | अगर हम अत्यधिक धूम्रपान करते है, तो इसकी वजह से हमारा शरीर त्वचा को ऑक्सीजन की आपूर्ति पूरी तरह से बंद कर देता है | इसलिए हमारी त्वचा कमजोर और बेजान बना कर हमारे शरीर को बीमारियोंं से ग्रस्त होने लगता है |

रक्त परिसंचरण खराब होने लगता है :-

धूम्रपान हमारे रक्त परिसंचरण को भी बहुत प्रभावित करता है | जब भी आप धूम्रपान का सेवन करते हैं, तो उसमे उपस्तिथ विषाक्त पदार्थ हमारे रक्त में प्रवेश कर जाते हैं, और हमारी रक्त कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने लगते हैं |जिसकी वजह से हमारे शरीर को ब्लड कैंसर होने का खतरा भी बना रहता है |

इसके नियमित सेवन से हमारा खून मोटा होने लगता है जिसके कारण हमारे रक्त में थक्के बनाने की संभावनाएं अधिक होने लगती है | जल्द ही हमारी धमनियां संकीर्ण होने लगती है | जिससे हमारे शरीर के हृदय व मस्तिष्क में सही मात्रा में ऑक्सीजन नही पहुँच पाता है |

मुंह में समस्या आने लगती है :-

तम्बाकू का सेवन या फिर इसको पीने से हमारे मुहं में कई प्रकार का संकर्मण होने लगता है | इसके नियमित सेवन से सांसों में बदबू, दांतो में कैविटी, दांतों का रंग लाल होना, मुहं में दाने होने लगना, व सूजन जैसी समस्या होने लगती है | अगर आपको इस प्रकार की कोई भी समस्या आने लगे तो तुरंत ही आपको इसका सेवन बन्द कर देना चाहिये | क्योंकि इन्ही कारणों की वजह से हमारे शरीर में कैंसर जैसी बीमारी जन्म लेने लगती है |

महिला की गर्भावस्था पर बुरा असर पड़ता है

धूम्रपान करने वाली महिलाओं की तुलना में धूम्रपान ना करने वाली महिला को गर्भ से जुडी कोई भी समस्या नही होती है | धूम्रपान करने वाली महिलाओं को खासकर गर्भधारण करने से लेकर प्रसव में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है | कभी कभी कई महिलाये गर्भावस्था के समय धूम्रपान का सेवन कर लेती है,

जिसकी वजह से गर्भस्राव,समय से पहले प्रसव या मृत बच्चा पैदा होने की संभावना बनी रहती है | अगर बच्चा पैदा भी होता है | तो बच्चा वजन कम या फिर किसी बीमारी से ग्रस्त रहता है | अगर आप नियमित तंबाकू का सेवन करती है, तो इससे आपके भ्रूण का विकास नही हो पाता है |

प्रजनन क्षमता कमजोर होने लगती है

धूम्रपान से हमारी प्रजनन प्रणाली बुरी तरह प्रभावित होती है, इसके प्रतिदिन सेवन हमारी इन्फर्टिलिटी होने की वजह से नपुंसकता होने का खतरा भी बना रहता है | धूम्रपान का अधिक सेवन करने से शुक्राणु का उत्पादन बहुत कम होने लगता है | निकोटीन का सेवन पुरुषों के एथेरोस्क्लेरोसिस में बहुत योगदान देता है,

जो हमारी धमनियों को बहुत कठोर बना देता है | जिसकी वजह से धमनियां हमारे प्रजनन अंगों को पर्याप्त रक्त प्रदान नहीं कर पाती है | जिसकी वजह से ये अंग कार्य करना बन्द कर देते है, और आपके शुक्राणु को पूरी तरह खत्म कर देते है |

ह्रदय की बीमारियों को जन्म देता है

नशीली चीजो का सेवन हमारे शरीर के हर एक अंग को प्रभावित करता है | इसके अधिक सेवन से ह्रदय से जुडी कई समस्याओ का सामना भी हमें करना पड़ता है | विश्व स्वस्थ्य संगठन के मुताबिक ह्रदय से जुडी सभी समस्याओ में धूम्रपान ही मुख्य कारण होता है |

इसके नियमित सेवन से हमारे शरीर के रक्त में 4000 जहरीले रसायन पैदा होते हैं, जैसे कार्बन मोनोआक्साइड, आर्सेनिक, फोरमलडायहड, हाइड्रोजन, सिनानाइड, अमोनिया, लेड व एक्टेलडेहाइड आदि हमारे शरीर में फ़ैल जाते है | जिसकी वजह से हमारे शरीर को कैंसर जैसी समस्याओ का सामना भी करना पड़ता है |

ब्रेस्‍ट कैंसर का खतरा रहता है

अगर महिला रोजाना किसी ना किसी नशीली चीज का सेवन करती है, तो महिला को ब्रेस्‍ट कैंसर होने का खतरा अधिक रहता है | टोकियो यूनिवर्सिटी ग्रेजुएट स्कूल ऑफ मेडिसिन की माने तो धूम्रपान ही ब्रेस्ट कैंसर की वजह बनता है |

अगर कोई महिला लगातार सिगरेट का सेवन करती है, तो कुछ सालो बाद उसको इस बीमारी के लक्षण अपने शरीर में दिखने लगेंगे | जैसे की आपके स्तनों का सख्त होना, स्तनों का आकर कम होना, स्तनों का छोटा बड़ा होना, या फिर स्तनों में गाठ होने लगना, ये सभी ब्रेस्‍ट कैंसर के लक्षण होते है |

धुम्रपान करने की वजह क्या होती है

धुम्रपान करने की अनेको वजह होती है, जैसे की

  • तनाव लेना
  • घरेलु समस्या
  • गलत संगत
  • बदलता जीवन
  • शौक की वजह से

आज के इस जीवन में हर इंसान किसी ना किसी परेशानी में वयस्त रहता है | जिसकी वजह से वो धुम्रपान की आदत डाल लेता है, बिना इसकी परवाह के की इसके सेवन के बाद वो बहुत सी बीमारियों से ग्रस्त हो जायेगा | पूरी दुनिया में लगभग हर साल साठ लाख लोग अपनी जान से हाथ धो बैटते है |

धुम्रपान में युवाओ के साथ साथ बच्चे भी इसकी ग्रस्त में आते जा रहे है लगभग भारत में है,  हर साल बीस लाख युवा धुम्रपान से अपनी जान गवा देते है | इसके नियमित सेवन से हमारे शरीर को कई प्रकार की समस्या होने लगती है |

अगर आप भी इसका नियमित सेवन करते है, और अपने शरीर को इन बीमारियोंं से दूर रखना चाहते है | तो आज से ही आपको इसका सेवन तुरंत रोक देना चाहिये |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.