Divya Ksirabala Tail

दिव्य ा क्षीरबला तेल को प्राकृतिक जड़ी बूटियों के मिश्रण से तैयार किया जाता है | इस तेल में मिलाई जाने वाली सभी जड़ी-बूटियां बहुत गुणकारी व लाभदायक होती है | इस तेल को मुख्य रूप से गठिया, लकवा व सभी प्रकार के दर्द को समाप्त करने के लिए बनाया गया है | यह तेल आपके मांसपेशियों में रक्त संचार को बेहतर बनाने का काम करता है | यदि आप भी कुछ इस प्रकार की बीमारियों से ग्रस्त है, तो आप केवल पतंजलि के इस तेल के माध्यम से अपनी इन सभी बीमारियों का इलाज बहुत आसानी से कर सकते है | दोस्तों आइये जानते है इस तेल के द्वारा होने वाले लाभ के बारे में…

 दिव्य ा क्षीरबला तेल में मिलाये जाने वाले घटक :

  • चित्रकमूल
  • माषपर्णी
  • पुनर्नवा
  • भारंगी
  • विदारीकन्द
  • क्षीरविदारी
  • श्वेत जीरा
  • जीवन्ति
  • मुद्गप्रणी
  • देवदारु
  • दशमूल

जैसी अन्य कई गुणकारी जड़ी बूटियों को मिलाया जाता है | इसी कारण यह तेल आपकी दर्द व लकवे जैसी परेशानी को आसानी से समाप्त कर देता है | आइये जानते है इस तेल के लाभ के बारे में विस्तार से …

दिव्य ा क्षीरबला तेल के लाभ :

लकवा रोग ठीक करता है यह तेल –

लकवा की बीमारी मुख्य रूप से पोलियो ग्रसित व्यक्ति, स्ट्रोक की वजह से, अधिक तनाव लेने के कारण व मस्तिष्क या रीढ़ की हड्डी में गहरी चोट लगने की वजह से शरीर के किसी भी हिस्से में रक्त का संचार रुक जाता हैं | जिसके कारण उस अंग की मांसपेशियां कार्य करना बंद कर देती है और व्यक्ति लकवे का शिकार हो जाता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या से ग्रस्त है तो आपको पंतजली द्वारा निर्मित क्षीरबला तेल का प्रयोग करना चाहिये | यह तेल लकवा पीड़ित व्यक्ति के प्रभावित अंग में रक्त संचार सुचारू रूप चालू करने का कार्य करती है | इस तेल का प्रयोग करते समय पीड़ित के प्रभावित हिस्से की मालिश नीचे से ऊपर की और ही करे |

जोड़ों में दर्द को ठीक करता है –

जोड़ों में दर्द की परेशानी आपको कई प्रकार से अपनी चपेट में ले सकती है यह समस्या कई बार संक्रमण, चोट, व किसी बीमारी के कारण भी आपको जोड़ों में दर्द होने लगता है | जोड़ों में दर्द जोड़ों के कार्टिलेज को नुकसान पहुंचने से होने लगता है यदि आप भी इस दर्द से परेशान है तो आपको दिव्य ा क्षीरबला तेल का प्रयोग करना चाहिये | यह आपके जोड़ों में स्थित कार्टिलेज को फिर से सही रूप में कार्य करने में मदद करता है |

गठिया रोग को ठीक करता है या तेल –

गठिया रोग अधिकतर अधिक उम्र के व्यक्तियोंमें देखा जाता है लेकिन यह बीमारी यदि आपके जोड़ों में संक्रमण, चोट, व जोड़ों से स्थित कार्टिलेज व उत्तक के टूटने के कारण भी आपको गठिया जैसी बीमारी का सामना करना पड़ सकता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार रोग से ग्रस्त है और आप आसानी से इस बीमारी का उपचार घर बैठे चाहते है तो आपको दिव्य क्षीरबला तेल का प्रयोग करना चाहिये इस तेल में पाए जाने वाले तत्व आपके जोड़ों के कार्टिलेज व उत्तक को ठीक करके गठिया जैसी समस्या को हमेशा के लिये खत्म कर देती है |

 दिव्य ा क्षीरबला तेल को उपयोग करने का तरीका –

इस तेल का उपयोग आप बहुत आसानी से कर सकते है आपको इस तेल का इस्तेमाल मालिश के रूप में करना चाहिये लकवा के मरीज के अंगों में इस तेल की मालिश नीचे से ऊपर की ओर के रूप में करनी चाहिये | जिससे मरीज के उन अंगों में रक्त संचार बेहतर होने लगता है | और आपको इस तेल नियमित मात्रा का ही प्रयोग करना चाहिये | आप अपने पांच साल से अधिक बच्चे की मालिश भी इस तेल के द्वारा कर सकती है |

इस तेल से शरीर पर होने वाले दुष्प्रभाव –

इस तेल का शरीर पर किसी भी प्रकार का कोई हानिकारक प्रभाव नही पड़ता है हो सकता है इस तेल की मालिश के समय आपकी आंखों में जलन व आंसू आने लगे | ऐसा केवल इस तेल से आने वाली खुशबू के कारण ही होता है | अन्यथा अब तक इस तेल का कोई हानिकारक प्रभाव नही हुआ है | इसलिए बाज़ार में इस तेल ने अपनी एक अलग पहचान बना रखी है |यदि आप इस तेल से जुड़े किसी सवाल को हमसे पूछना चाहते है तो हमारे कमेन्ट बॉक्स में हमें जरुर बताये |

मानवेन्द्र सिंह

मानवेन्द्र सिंह

मानवेंद्र सिंह सॉफ्ट प्रमोशन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड में फिटनेस और हेल्थ ब्लॉगर हैं। उन्होंने 2006 में BHM स्नातक की डिग्री ली है। उन्हें स्वास्थ्य एवं विज्ञान अनुसंधान के क्षेत्र में लेखन का आनंद मिलता है।

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.