डाइटिंग कैसे करें? डाइटिंग में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?

0
406
डाइटिंग कैसे करें
डाइटिंग कैसे करें

डाइटिंग कैसे करें? डाइटिंग में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं?” क्या ये प्रश्न आपके दिमाग में भी आते हैं? आज हम आपको इस पोस्ट में बताएँगे की डाइटिंग कैसे करते हैं और इसके माध्यम से कैसे आप अपने शारीर को चुस्त-दुरुस्त और स्वस्थ रख सकते हैं। जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं और अपने पेट की चर्बी को लेकर परेशान हैं उन लोगों के लिए भी डाइटिंग एक शानदार विकल्प है। 

डाइटिंग कैसे करें? How to do Dieting?

आमतौर पर खान-पान में तमाम तरह की पाबंदियां को लगा देना डाइटिंग समझा जाता है लेकिन डाइटिंग कैसे करें नहीं पता होता है डाइटिंग शब्द का सटीक अर्थ यह नहीं होता है। सही मायनों में डाइटिंग शब्द का अर्थ होता है कि सही समय पर सही मात्रा में भोजन लेना। यदि आप डाइटिंग कर रहे हैं तो इसे गंभीरता से लें। 


वजन कम करने के लिए जब आप डाइटिंग करते हैं तो आपको अपने मील बिल्कुल भी स्किप नहीं करने चाहिए। यह डाइटिंग करने का सही तरीका नहीं है, एक शोध के अनुसार साबित हुआ है कि डाइटिंग करने से खाने की क्षमता और बढ़ जाती है। कभी-कभी तो लोग ऐसा भी करते हैं कि वे डाइटिंग के चक्कर बहुत ही कम खुराक लेने लगते हैं। इससे होता यह है कि उन्हें वजन कम होने के साथ साथ अनेकों प्रकार की कमजोरियां भी महसूस होने लगती हैं। 

ऐसा आपके साथ ना हो इसलिए आप सबसे पहले खुद को पहचाने और अपना डाइट प्लान सेट करें। डाइटिंग करने से पहले यह जानकारी होना बहुत जरूरी है कि आप को कब, क्या और कितना खाना चाहिए। 

महिलाओं को सबसे ज्यादा चिंता इस बात की रहती है कि शिशु को जन्म देने के बाद वह अपने वजन को कम कैसे करें। नॉर्मल डिलीवरी की स्थिति में महिलाएं आराम से वजन कम करने के उपायों के बारे में सोच सकती हैं। लेकिन जब सिजेरियन डिलीवरी का केस होता है तो यह जरूरी होता है कि जब तक पेट पर लगे टांके पूरी तरह से ठीक ना हो जाएँ तब तक एक्सरसाइज ना करें। 

साधारण डाइट प्लान। Simple Diet Plan in Hindi

यदि कुछ हेल्थ एक्सपर्ट की मानें तो एक सामान्य व्यक्ति नीचे दिया गया साधारण डाइट प्लान आराम से फॉलो कर सकता है। यदि आपका वजन ज्यादा है और आप घर पर ही रहकर अपना वजन कम करना चाहते हैं तो यह डाइट प्लान आपके काफी मदद कर सकता है।

  • सुबह उठने के बाद गुनगुने नींबू पानी का सेवन करें और इसके साथ ही दो या तीन तुलसी खाएं जो कि एक एन्टी ऑक्सीडेंट होता है। 
  • इसके बाद अपने आस पास खुले में टहलें और वयायाम करें। 
  • इसके बाद दूध पियें और फल खाएं। 
  • नाश्ते में स्प्राउट्स, उपमा या दलिया आदि लें। लंच यानी दोपहर के खाने के वक़्त – दाल, चावल, चपाती, सब्जी दही और सलाद। 
  • शाम के वक़्त स्नैक्स ले सकते हैं – पॉपकॉर्न या रोस्टेड चना इत्यादि। 
  • रात का खाना थोड़ा हल्का खाएं। 

यदि यह डाइट प्लान आप सही तरह से फ़ॉलो करेंगे तो आपको अवश्य ही इसका फायदा होगा। ऐसा बिल्कुल भी ना सोचें कि बिना एक्सरसाइज किए ही आपका वजन कम हो जाएगा। यदि आप बेहतर परिणाम चाहते हैं तो डाइटिंग के साथ साथ एक्सरसाइज करना भी बहुत ही जरूरी है। 


सबसे महत्वपूर्ण यह है कि आप सुबह उठकर गुनगुना नींबू पानी जरूर पिएं इससे आपकी पाचन क्रिया सही बनी रहेगी लेकिन ऐसा बिल्कुल भी ना सोचे कि सिर्फ सुबह गर्म पानी पीकर ही आपका मोटापा कम हो जाएगा। मोटापा कम करने के लिए आपको पूरा डाइट प्लान गंभीरता से लेना होगा और इसे सही तरह से फॉलो भी करना होगा। 


सुबह उठकर गुनगुना पानी पीने से आपके पेट की चर्बी पर भी अच्छा खासा असर पड़ेगा और यह कम भी हो जाएगी। बशर्ते आपको यह रोजाना करना होगा। 

डाइटिंग में क्या खाना चाहिए? What to eat when you are on Dieting

शारीरिक स्थिति में सुधार लाने के लिए अक्सर डाइटिंग को अपनाया जाता है। पर डाइटिंग कैसे करें यह सवाल दिमाग में आता है इसमें भोजन के सेवन को नियमित किया जाता है। ज्यादातर देखा यह जाता है कि कुछ व्यक्ति डाइटिंग को एक सप्ताह सही से फॉलो करने के बाद ही छोड़ देते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह अपने डाइट का प्लान बहुत ही कठोर बना लेते हैं जिसके बाद कमजोरी आने पर उन्हें पहले सप्ताह में अपने डाइट प्लान को छोड़ देना पड़ता है। कुछ लोग डाइटिंग संबंधी साधारण गलतियां भी कर देते हैं जैसे कि नाश्ता ना करना एवं सही मात्रा में पानी ना पीना। 

डाइट प्लान बनाते वक्त कभी भी एक ही भोजन को बार-बार दोहराना नहीं चाहिए ऐसा करने से आप एक ही तरह का भोजन करके कुछ ही दिनों में अरुचिकर या उबाऊ महसूस करने लगते हैं। इससे कभी-कभी नुकसान भी हो जाता है क्योंकि जब आप एक ही तरह का भोजन बार-बार खाकर ऊब जाते हैं तो आपका ध्यान बाहर के फास्ट फूड की तरफ जाता है। इसका एकमात्र समाधान यही है कि आप अपनी डाइट में विविधता लाएं। अपना डाइट प्लान बनाने के दौरान अलग-अलग रंग की सब्जियों और फलों को उस में जगह दे। 

आप अपने डाइट प्लान में भुट्टा शामिल कर सकते हैं क्योंकि यह वजन कम करने में काफी ज्यादा सहायक होता है। भुट्टा खाने से आप की हड्डियां और दांत मजबूत बने रहते हैं। 

डाइटिंग के दौरान क्या-क्या परहेज करने चाहिए?

डाइटिंग को सही ढंग से फॉलो करने के लिए हमें यह भी जानना होगा कि हमें किन चीजों से बच के रहना है या फिर किन किन चीजों से परहेज करना है। क्या खाया जाए इससे ज्यादा बेहतर यह जानना होगा कि डाइटिंग के दौरान क्या नहीं खाया जाए। 

  1. ब्रेकफास्ट को नजरअंदाज करने की कोशिश न करें। 

बहुत सारे लोग डाइटिंग  के चक्कर में अपने ब्रेकफास्ट को नजरअंदाज कर देते हैं। जबकि ऐसा करना बिल्कुल भी सही नहीं होता है यदि आप ब्रेकफास्ट नहीं करेंगे तो आप खाना जरूरत से ज्यादा खा लेंगे। जो किताब बिल्कुल सही नहीं होता है जब आप किसी डाइट प्लान को फॉलो कर रहे हो। 

  1. पर्याप्त पानी न पीने की गलती बिल्कुल न करें। 

कुछ लोग डाइट प्लान को फॉलो करने की जल्दी में पर्याप्त मात्रा में पानी लेना भूल जाते हैं। जैसे हमारी बॉडी हाइड्रेटेड नहीं रहती है। यह गर्मियों के मौसम में बहुत जरूरी हो जाता है कि हम पर्याप्त मात्रा में पानी ले। ऐसा ना करने पर हम डिहाइड्रेशन का शिकार हो सकते हैं। 

  1. जरूरत से ज्यादा या फिर स्वाद-स्वाद में अपने डाइट प्लान को भूले नहीं।

अक्सर यह देखा जाता है कि लोग जब किसी शादी या फिर किसी दावत में जाते हैं तो विश्वास स्वाद में कुछ ज्यादा ही कैलोरी अपने अंदर डाल लेते हैं। जिससे कई दिनों पुराना डाइट प्लान जो लोग फॉलो कर रहे होते हैं, वह खराब हो जाता है। हमें यह ध्यान देना चाहिए कि हम साथ साथ में अपने डाइट प्लान को कहीं भूल ना जाएं। 

  1. तली हुई चीज़ो का अधिक सेवन न करें। 

यह सबसे खास बात है जो कि आपको डाइटिंग करते वक्त ध्यान में रखनी चाहिए। डाइटिंग करते वक्त आपको तली हुई चीजों का सेवन नहीं करना है। 


तो यह था हमारा पूरा पोस्ट जिसमें हमने डाइटिंग से जुड़ी सभी चीजों को विस्तार में समझाया है। यदि आपका कोई भी सुझाव है या फिर कोई भी सवाल है तो नीचे कमेंट में जरूर बताएं। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.