सोरायसिस रोग त्वचा ( Psoriasis Skin disease ) की ऊपरी सतह का चर्म रोग है जिससे त्वचा में कोशिकाओं की तादाद बढने लगती है और त्वचा के ऊपर मोटी परत जम जाती है सोरायसिस (Psoriasis) की बीमारी में सामान्यतः त्वचा पर लाल रंग की सतह उभरकर आती है | यह खोपड़ी, हाथ-पांव अथवा हाथ की हथेलियों, पावों के तलवे, कोहनी, घुटनो और पीठ पर अधिक होती है | सोरायसिस रोग कोई संक्रामक रोग नही है |

सोरायसिस रोग

सोरायसिस रोग के रोगी के संपर्क से अन्य लोगो को कोई खतरा नही है | सोरायसिस (Psoriasis) वैसे तो किसी भी आयु में हो सकता है लेकिन 10 वर्ष से कम आयु में यह रोग बहुत कम होता है 15 से 40 की उम्र में यह रोग ज्यादा होता है | लगभग 1 से 3% लोग इस बीमारी से पीड़ित होते है | सोरायसिस (Psoriasis) एक बार ठीक हो जाने के बाद कुछ समय पश्चात पुनः उभर आता है और कभी-कभी अधिक उग्रता के साथ उभर कर आती है | यह बीमारी अनुवांशिक भी हो सकता है | कई लोग इसे चर्म रोग या छल रोग भी कहते है दोस्तों वैसे तो सोरायसिस  के कई लक्षण (Psoriasis Symptoms) होते मगर कुछ ऐसे लक्षण (Psoriasis Symptoms) है जिन्हें पहचान कर आप इससे बचाब (Psoriasis Treatment) कर सकते है जैसे- आखों में जलन, चलने फिरने में दिक्कत आना, जोड़ो में दर्द होना, शरीर में लाल रंग के चकत्ते दिखाई देने लगना इसके साथ ही सोरायसिस के कारणों (Psoriasis Causes) में दो ही मुख्य कारण माने जाते है एक आनुवांशिक और दूसरा पर्यावरण-

आनुवांशिक

डॉक्टर मानते है कि सोरायसिस आनुवांशिक कारणों (Psoriasis Causes) से भी आ सकता है|

पर्यावरण

लगातार कैमिकाल्स और प्रदूषण के संपर्क में रहने के कारण (Psoriasis Causes) भी सोरायसिस हो सकता है यह बीमारी सर्दियों में अधिक होती है ज्यादा देर धूप में रहने के कारण भी यह बीमारी हो सकती है | सोरायसिस से बचाब (Psoriasis Treatment) का पहला मुख्य पोइंट है | त्वचा की देखभाल करना सोरायसिस (Psoriasis) होने पर हम डॉक्टर से इलाज (Psoriasis Treatment) करवा सकते है | मगर कुछ घरेलू उपायों का प्रयोग भी किया जा सकता है तो आइये जानते है सोरायसिस से बचाब के कुछ घरेलू उपाय- (Psoriasis Treatment)

सोरायसिस से बचाब के कुछ घरेलू उपाय : सोरायसिस रोग

गुनगुने पानी से स्नान :

गुनगुने पानी में तेल, ओटमील, सेंधा नमक मिला कर टब में 15 मिनट बैठ जायें इससे स्किन ड्राइनेस कम होगा और त्वचा पर पपडी भी नही जमेगी |

माँस्चराइजर :

सोरायसिस में त्वचा (Psoriasis Skin) तुरंत शुष्क हो जाती है | इससे बचने के लिये त्वचा में हमेशा नमी बनाये रखें | पूरे बदन में मास्चराइजर लगायें रखें |

अनार :

सोरायसिस (Psoriasis) में अनार के पत्तो को पीसकर लगाना आराम-दायक होता है|

नींबू :

नींबू का रस लगाने से सोरायसिस (Psoriasis) में आराम मिलता है |

केला :

केले में नींबू का रस मिलाकर लगाने से खुजलाहट कम हो जाती है |

आलू-

कच्चे आलू का रस पीना सोरायसिस (Psoriasis) में काफी फायदेमंद होता है |

हल्दी-

हल्दी का लेप सोरायसिस (Psoriasis) में काफी असरदार होता है |

नीम-

नीम के पत्तो को दही के साथ पीसकर लगाने से काफी फायदा होता है |

बथुआ-

बथुआ को उबालकर इसका रस पियें और साग बनाकर खायें काफी राहत मिलेगी |

सिंघाड़े-

सिंघाड़े के पत्ते को घिस कर इसमें थोडा नींबू का रस मिलाकर त्वचा पर लगायें पहले जलन होगी फिर ठंडक महसूस होगी इससे सोरायसिस (Psoriasis) में काफी राहत मिलेगी |

मानवेन्द्र सिंह

मानवेंद्र सिंह सॉफ्ट प्रमोशन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड में फिटनेस और हेल्थ ब्लॉगर हैं। उन्होंने 2006 में BHM स्नातक की डिग्री ली है। उन्हें स्वास्थ्य एवं विज्ञान अनुसंधान के क्षेत्र में लेखन का आनंद मिलता है।

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.