पैन्क्रियाटाइटिस रोग या अग्नाशयशोथ रोग की सम्पूर्ण जानकारी

0
743
पैन्क्रियाटाइटिस

पैन्क्रियाटाइटिस रोग या अग्नाशयशोथ रोग आपके शरीर के पैंक्रियास नामक अंग में सूजन आ जाने से होता है। यह आपके शरीर के महत्वपूर्ण अंगों जैसे हृदय, फेफड़े और गुर्दों को भी नुकसान पहुंचा सकता हैं

एक्यूट पैन्क्रियाटाइटिस में आपके पैंक्रियास मे अचानक से  सूजन आ जाती है। इसकी वजह से  आपको पेट में हलकी परेशानी से लेकर, आपके लिए यह एक गंभीर जानलेवा बीमारी भी बन सकती  है। एक्यूट पैन्क्रियाटाइटिससे ग्रस्त ज़्यादातर रोगी सही इलाज लेने पर पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं

क्रॉनिक अग्नाशयशोथ, यह रोग एक्यूट पैन्क्रियाटाइटिस रोग के बाद बनता है और पैंक्रियास की चलती सूजन का परिणाम से क्रॉनिक पैन्क्रियाटाइटिस होता है। लम्बे समय तक शराब पीने या धूम्रपान के कारण भी क्रॉनिक पैन्क्रियाटाइटिस हो सकता है। इसके रोगी को गंभीर दर्द के अलवा हो सकता कि उसका पैंक्रियास काम  ही न करे है

पैन्क्रियाटाइटिस रोग या अग्नाशयशोथ रोग के कारण क्या है ?

इस बीमारी  के कई कारणों हो सकते है जैसे :

  • अधिक  शराब के सेवन से
  • पेट की सर्जरी
  • धूम्रपान
  • कुछ दवाएं
  • पित्ताशय की पथरी
  • पेट में चोट लगना
  • अग्नाशय का कैंसर
  • रक्त में उच्च कैल्शियम का स्तर
  • रक्त में उच्च ट्राइग्लिसराइड का स्तर
  • थायराइड का बढ़ना

पैन्क्रियाटाइटिस बीमारी का जोखिम किन लोगो मे अधिक होता हैं

कुछ लोगो मे इस बीमारी के  होने का जोखिम अधिक होता है जैसे :

  • अनुवांशिक विकार भी है
  • मधुमेह रोगी
  • मोटापे या कम शरीरिक काम करने वाले लोगो मे
  • धूम्रपान
  • डाइटिंग करे वाले लोगो मे

पैन्क्रियाटाइटिस रोग  के लक्षण –

जानते है इस बीमारी के कुछ लक्षण के बारे मे

  • पेट  के ऊपरी हिस्से  में दर्द
  • मतली  ( जी मिचलाना  ) या  उल्टी
  • पेट का मुलयाम लगना
  • बिना कोशिश किए वजन का कम होना
  • दुर्गन्धित और तैलीय मल

पैन्क्रियाटाइटिस रोग का परीक्षण या टेस्ट

इसके निदान के लिए निम्नलिखित परीक्षण किए जा सकते हैं

  • रक्त परीक्षण द्वारा अग्नाशय एंजाइमों के ऊंचे स्तर को देखा जाता है
  • पुरानी पैन्क्रियाटाइटिस में आपका  मल परीक्षण से वसा के स्तर को मापा जाता है जिससे आपके पाचन तंत्र की शक्ति के बारे मे पता लगते है कि वह पोषक तत्वों को पर्याप्त रूप से अवशोषित कर रहा है या नहीं
  •  कम्प्यूटरीकृत टोमोग्राफी (सीटी) स्कैन से पित्ताशय की पथरी को देखने और पैंक्रियास की सूजन की सीमा का आकलन करने के लिए किया  जाता है
  • पेट का अल्ट्रासाउंड से पित्ताशय की पथरी और पैंक्रियास की सूजन को देखने के लिए होता है
  • चुंबकीय अनुनाद इमेजिंग ( एमआरआई ) से पित्ताशय, पैंक्रियास और नलिकाओं में असामान्यताएं देखने के लिए किया जाता है

इस रोग मे उपचार और दवाओं की जानकारी

पैन्क्रियाटाइटिस की बीमारी  के लिए उपचार आमतौर पर अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होती है। जब तक आपकी स्थिति अस्पताल में स्थिर नहीं  हो जाती है और आपके पैंक्रियास में सूजन को नियंत्रित कर लिया जाता  है, डॉक्टर आपके पैन्क्रियाटाइटिसके कारण का पता लगाकर उसका इलाज करते  हैं।

अस्पताल में भर्ती के समय क्या होता है

यदि आप पैन्क्रियाटाइटिस का अनुभव कर रहे हैं, तो आपका डॉक्टर आपको पैन्क्रियाटाइटिस को स्थिर करने के लिए अस्पताल में भर्ती कर सकता है। आपके पैंक्रियास में सूजन को नियंत्रित करने और आपको अधिक आरामदायक देने के लिए प्रारंभिक उपचार शुरू कर सकते हैं

खान पान

अपने पैंक्रियास को ठीक होने तक आपको अस्पताल में कुछ दिनों तक खाना बंद करना होता है । जब तक आपके पैंक्रियास की सूजन नियंत्रित नहीं हो जाती है, आपको तरल पदार्थ और कुचला हुआ आहार खा सकते हैं। कुछ समय बाद आप अपने सामान्य आहार पर वापस जा सकते हैं। यदि आपकी पैन्क्रियाटाइटिस बनी रहती है और तू आपको भोजन करते समय दर्द का अनुभव करते हैं, तो आपका डॉक्टर आपको खाना खाने में मदद करने के लिए एक फीडिंग ट्यूब भी लगा  सकते है।

दर्द की दवाएं

पैन्क्रियाटाइटिस बीमारी मे आपको  गंभीर दर्द हो सकता है। इसके लिए डॉक्टर आपके दर्द को नियंत्रित करने में मदद करने के लिए दवाएं दी जाएगी ।

Intravenous (IV) fluids दिया जायेगा

जैसा कि आपका शरीर आपके पैंक्रियास की मरम्मत के लिए ऊर्जा और तरल पदार्थ की जरुरत होती है तो अस्पताल में रहने के दौरान  आपके हाथ की बांह में एक नस के माध्यम से अतिरिक्त तरल पदार्थ दिया जायेगा जिससे आप जल्द ठीक हो सके ।

पैन्क्रियाटाइटिसके कारण का इलाज करना

एक बार जब आपका पैन्क्रियाटाइटिस नियंत्रण में आ जाता है, तो डॉक्टर आपके पैन्क्रियाटाइटिस के अंतर्निहित कारण का इलाज करता है।

इसका उपचार आपके पैन्क्रियाटाइटिस के कारण पर निर्भर करेगा :

पित्त नली की रुकावटों को दूर करने की प्रक्रिया

एक संकुचित या अवरुद्ध पित्त नली के कारण पैन्क्रियाटाइटिस होता है इस  पित्त नली को खोलने या चौड़ा करने के लिए प्रक्रियाओं की आवश्यकता हो सकती है।

एंडोस्कोपिक रेट्रोग्रेड चोलंगीओप्रेटोग्राफी (ईआरसीपी) नामक एक प्रक्रिया आपके पैंक्रियास और पित्त नलिकाओं की जांच करने के लिए अंत में एक कैमरा के साथ एक लंबी ट्यूब का उपयोग करती है। ट्यूब आपके गले के नीचे से गुजरती है और कैमरा आपके पाचन तंत्र की तस्वीरों को मॉनिटर पर भेजता है। ईआरसीपी पित्त नली में समस्याओं का निदान करने और मरम्मत करने में सहायता कर सकता है।

पित्ताशय की थैली की सर्जरी

यदि पित्ताशय की पथरी  आपके पैन्क्रियाटाइटिस का कारण बनता है, तो आपका डॉक्टर आपके पित्ताशय की थैली (कोलेसिस्टेक्टोमी) को हटाने के लिए सर्जरी की सिफारिश कर सकता है.

पैंक्रियास की सर्जरी

इस सर्जरी मई आपके पैंक्रियास से तरल पदार्थ को निकालने या रोगग्रस्त ऊतक को हटाने के लिए आवश्यक हो सकती है।

शराब पर निर्भर रोगी  के लिए उपचार

कई वर्षों तक प्रतिदिन शराब पीने से भी पैन्क्रियाटाइटिस हो सकता है।  तो आपका डॉक्टर आपको शराब की लत छोड़ने में  मदद करने वाले कार्यक्रम मे प्रवेश करने की सलाह दे सकता है। क्योंकि लगातार शराब पीने से पैन्क्रियाटाइटिस मे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं।

क्रॉनिक पैन्क्रियाटाइटिस के लिए अतिरिक्त उपचार

क्रॉनिक पैन्क्रियाटाइटिस मे आपको अतिरिक्त उपचार की आवश्यकता पड़ सकती  है। आपकी स्थिति के आधार क्रॉनिक पैन्क्रियाटाइटिस के इलाज के लिए अन्य इलाज भी करने पड़ सकते हैं:

क्रॉनिक पैन्क्रियाटाइटिस मे दर्द प्रबंधन की आवश्यकता

क्रॉनिक पैन्क्रियाटाइटिस लगातार पेट दर्द का कारण बन सकती है। आपका डॉक्टर आपके दर्द को नियंत्रित करने वाली दवाओं की सिफारिश कर सकता है और आपको एक दर्द विशेषज्ञ के पास सलाह के भेज सकता है  नसों को अवरुद्ध को ठीक करने वाली सर्जरी से गंभीर दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है जो पैंक्रियास से मस्तिष्क तक दर्द के संकेत भेजते हैं।

पाचन में सुधार करने के लिए एंजाइम का महत्व

अग्नाशयी एंजाइम की खुराक आपके शरीर को टूटने और आपके द्वारा खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों में पोषक तत्वों को संसाधित करने में मदद कर सकती है। अग्नाशयी एंजाइमों को प्रत्येक भोजन के साथ गोली के रूप में लिया जाता है।

अपने आहार में परिवर्तन की सलाह

आपका डॉक्टर आपको एक आहार विशेषज्ञ के पास भेज सकता है जो आपको कम वसा वाले भोजन की योजना बनाने में मदद कर सकता है जिसमे पोषक तत्वों में उच्च  मात्र रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.