सफ़ेद पानी या लिकोरिया के कारण, लक्षण व उपाय

0
330
जानिये सफ़ेद पानी लिकोरिया आने के प्रमुख कारण - REASON OF WHITE DISCHARGE IN HINDI

लगभग हर महिला को पीरियड्स / माहवारी के दौरान सफ़ेद पानी लिकोरिया आने की समस्या रहती ही है| वैसे पीरियड्स के दौरान तो सफ़ेद पानी आना एक आम समस्या होती है, मगर कभी कभी सफ़ेद पानी आना किसी गंभीर बीमारी बनने का लक्षण भी हो सकता है |

सफ़ेद पानी आने की समस्या को मेडिकल की भाषा में लिकोरिया के नाम से भी जाना जाता है | जब सफ़ेद पानी आने के साथ बदबू , खुजली , चिपचिपापन महसूस होने लगे तो बिलकुल भी लापरबाही ना करें, क्योकि ये किसी गंभीर बीमारी या इन्फेक्शन होने का कारण हो सकता है | जैसे ही आपको यह लक्षण नजर आने लगे तो तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करे, जिससे ये एक गंभीर बीमारी का रूप धारण ना कर सके |

सफ़ेद पानी एक तरल चिपचिपा पदार्थ होता है , जो महिलाओं की गर्भाशय के ग्लैंड और योनि से बनता है| गर्भावस्था के समय सफ़ेद पानी का आना एक आम बात होती है , मगर जब यह अधिक मात्रा में आने तो लापरवाही ना करे तत्काल अपने चिकित्सक से सलाह लें |

तो आइये जानते है सफ़ेद पानी या लिकोरिया के कुछ कारण –

लिकोरिया होने के कुछ प्रमुख कारण निम्न हैं  :

योनि की साफ़ सफाई न करने से  –

चिकत्सा विशेषज्ञों के अनुसार योनि से सफ़ेद पानी आना वैसे तो एक आम प्रक्रिया होती है जिसका प्रमुख उद्देश्य शरीर और योनि में जमा गंदगी को बाहर निकालना होता है | इस सफ़ेद तरल पदार्थ में बहुत से बैक्टीरिया और मृत कोशिकाएं पायी जाती है | जो इस तरल सफ़ेद पदार्थ के साथ बाहर निकल जाती है और योनि की सफाई हो जाती है एवं योनि में इन्फेक्शन का खतरा भी खत्म हो जाता है |

गर्भावस्था में योनि से सफ़ेद पानी निकलने का कारण –

अक्सर कुछ महिलाओं को गर्भावस्था के समय सफ़ेद पानी आने की समस्या अधिक रहती है|मगर कुछ कारणों में ज्यादा मात्रा में सफ़ेद पानी आना गर्भधारण का संकेत भी माना जाता है|गर्भावस्था के समय निकलने वाले सफ़ेद पानी में बदबू और चिपचिपाहट बिलकुल ना के बराबर होती है |

ज्यादा मात्रा में सफ़ेद पानी आना वैसे तो गर्भधारण की और इसारा करता है मगर ये भी बिलकुल निश्चित नहीं होता है की आप गर्भवती ही है|

इसीलिये जब सफ़ेद पानी आना शुरू हो जाये तो पहले गर्भावस्था की जाँच किसी चिक्तिसक से या फिर घर पर ही कर ले और अगर आप गर्भवती नहीं है तो तुरंत ही किसी विशेषज्ञ चिकित्सक से परामर्श ले , क्योकि ज्यादा मात्रा में सफ़ेद पानी आना गंभीर बीमारी का लक्षण भी  हो सकता है |

सफ़ेद पानी या लिकोरिया के लक्षण :

अनियमित रूप से पीरियड्स का आना –

अधिकतर लडकियों को पीरियड्स का मिस हो जाना या समय पर ना होने की समस्या का भी सामना करना पड़ता है | सफ़ेद रंग का निकलने वाले पानी का रंग जब बदलकर लाल या भूरा हो जाता है ,  तो ये पीरियड्स का समय पर ना आने की ओर इशारा होता है |वैसे तो ये अनियमित पीरियड्स होने का संकेत होता है मगर कुछ स्थितियों में ये सार्वाइकल कैंसर होने का संकेत भी होता है |

अनियमित पीरियड्स या मासिक धर्म वैसे कई कारणों के कारण हो सकता है जैसे – अश्वस्थ जीवनशैली होना , गर्भ निरोधक दवाइयों का अधिक मात्रा में प्रयोग करने से और जीन में हारमोंस का संतुलन बिगड़ जाने से | परन्तु सफ़ेद पानी आने का मुख्य कारण शरीर में हारमोंस के संतुलन का बिगड़ जाना होता है |

पीरियड्स में सफ़ेद पानी का आना – लिकोरिया

पीरियड्स शुरू होने के पहले के दिनों में अगर आपकी योनि से सफ़ेद पानी का आना शुरू हो जाता है तो घबराने की कोई बात नहीं होती है| क्योंकि पीरियड्स शुरू होने के पहले के दिनों में दूधिया सफ़ेद पानी आना आम बात होती है क्योंकि पीरियड्स आने के पहले गर्भाशय आधिक मात्रा में सफ़ेद पानी का उत्पादन करता है जिससे शरीर में मौजूद सभी हानिकारक तत्व और इन्फेक्शनल बैक्टीरिया शरीर से बहार निकल जाये और आपकी योनि संक्रमण से सुरक्षित रहे |

यीस्ट संक्रमण से सफ़ेद पानी निकलना –

योनि से निकलने बाला सफ़ेद पानी का रंग जब सफ़ेद गहरा भूरा और अधिक गाडा व चिपचिपा हो जाये तो यह योनि में होने वाले यीस्ट संक्रमण का संकेत होता है | यीस्ट संक्रमण जिसे खमीर संक्रमण भी बोला जाता है, एक न एक बार हर महिला और लड़की को जीवन में होता ही है |

योनि में यीस्ट यानि की खमीर की मात्रा ज्यादा हो जाने के कारण महिलाओ को इस समस्या का सामना करना पड़ता है | खमीर / यीस्ट इन्फेक्शन के कारण महिलाओ की योनि में कैंडिडा  नाम का बैक्टीरिया उत्पन्न हो जाता है |

यीस्ट इन्फेक्शन की समस्या होने पर महिलाओं को योनि से पानी आने के साथ साथ खुजली , बदबू , सूजन और सम्भोग करते समय योनि में अत्यधिक मात्रा में असहनीय दर्द का अनुभव होता है | वैसे यीस्ट इन्फेक्शन होने का प्रमुख कारण अत्यधिक मात्रा में एंटी बायोटिक्स का इस्तेमाल माना जाता है |

ओवूलेशन के समय भी सफ़ेद पानी आना – लिकोरिया

ओवूलेशन अधिकतर महिलाओं को पीरियड्स खत्म होने के बाद ही शुरू होता है |ओवूलेशन को खासकर गर्भधारण का सबसे सही समय माना जाता है| ओवूलेशन की इस प्रक्रिया में पीरियड्स खत्म होने के बाद कुछ समय तक सफ़ेद पानी आता रहता है और पीरियड्स शुरू होने के कुछ समय पहले से ही सफ़ेद पानी का आना शुरू हो जाता है | इस ओवूलेशन के समय में योनि से एक अजीब क्रीमी सफ़ेद रंग का पानी योनि से निकलना शुरू हो जाता है |

बैक्टीरियल वेजिनोसिस संक्रमण  – लिकोरिया

बैक्टीरियल वेजिनोसिस एक ऐसा संक्रमण होता है जो योनि में काफी ज्यादा मात्रा में बैक्टीरिया उत्पन्न हो जाने के कारण होता है | यीस्ट और बैक्टीरिया का विशेष संतुलन योनि को स्वस्थ रखने के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण होता है | परन्तु जब यह संतुलन बिगड़ जाता है तो बैक्टीरियल वेजिनोसिस संक्रमण होने की समस्या पैदा हो जाती है | बैक्टीरियल वेजिनोसिस संक्रमण कभी कभी कुछ स्थिति में खुद व खुद ठीक हो जाता है | इसे पहचानने का सबसे सही तरीका होता है की जब आपको बैक्टीरियल वेजिनोसिस संक्रमण की समस्या शुरू होती है तो योनि से निकलने वाले सफ़ेद पानी का रंग हल्का भूरा और पीले का हो जाता है और उसमे काफी तेज बदबू आने लगती है |

ज्यादा सफ़ेद पानी आने पर क्या सावधानियां बरते ?

सफ़ेद पानी का आना वैसे तो एक आम बात होती है परन्तु जब यह अधिक , असुबिधाजनक और परेशानी का कारण बनने लगे तो लापरवाही बिल्कुल ना करे | ऐसे समय में डॉक्टर से परामर्श जरुर ले|

आज हम आपको कुछ घरेलू सरल उपाय बताने जा रहे हैं जिनका प्रयोग करके आप इस समस्या को काफी हद तक कम कर सकते हैं –

सफ़ेद पानी या लिकोरिया से बचाव के आसान घरेलू उपाय :

  • सफ़ेद पानी आने के दौरान अच्छी क्वालिटी के सेनेटरी पैड्स का ही प्रयोग करे जो नमी को पूरी तरह से सोक लेने में सक्षम हो |
  • असुरक्षित यौन सम्बन्ध और ज्यादा मात्रा में गर्भनिरोधक दवाओं के सेवन से परहेज करना बहुत जरुरी होता है |
  • जितना ज्यादा हो सके योनि के आस पास के हिस्से को साफ़ और सूखा रखने का प्रयास करे जिससे कोई संक्रमण ना हो सके और योनि स्वस्थ रहे |
  • मानसिक तनाव और शारीरिक थकान को दूर करने वाली एंटी बायोटिकस भी ज्यादा मात्रा में खाना सफ़ेद पानी आने का कारण बन जाती है इसलिए जितना ज्यादा हो सके इनसे वचाब करे |
  • संक्रमण से वचाब करने के लिए योनि के आसपास सुगंधित पदार्थो का प्रयोग करने से बचें|ये इन्फेक्शन को बढ़ाने का काम करते है |

ऊपर दी गयी जानकारियों के उपयोग से आप सफ़ेद पानी या लिकोरिया से छुटकारा पा सकते हैं |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.