benefits of Milk

दूध हमारी किस तरह रोगों से हमारे शारीर की रक्षा करता है |क्योंकि दूध को एक सम्पूर्ण आहार माना जाता है|इसको पीना हमारे शरीर के लिये बहुत जरुरी है |इसीलिये हमको इसके बारे में जानना भी बहुत जरुरी है |इसको पीने से हमारे शरीर की कई बीमारियाँ दूर होती है |और ये हमारे शरीर में रोग प्रतिरोध की मात्रा को भी बढ़ता है |जिससे हमको कोई भी बीमारी छु तक नही पाती |दूध हमारे शरीर की कई सारी कमियों को भी दूर करता है |

  • बकरी का दूध

बकरी का दूध हमारे शरीर के लिये काफी फायेदेमंद होता है |बकरी के दुग्ध में केल्शियम और विटामिन A, विटामिन बी6,निसिन और एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है |और बकरी के दुग्ध में सिलेनियम की मात्रा भी काफी अधिक होती है |जिसको पीने से हमारे शरीर में कोई भी बीमारी पनप नही पाती है | इसमें फोलिक एसिड बहुत कम मात्रा में पाया जाता है| जिसकी वजह से हम मोटापे के शिकार भी नही हो पाते है |हमको बकरी के दुग्ध को उबालकर पीना चाहिये |जिससे की हम इसको जल्दी पचा सके |और हमको किसी भी प्रकार की बीमारी ना हो |

  • भैंस का दूध

अगर आप कमजोर है| और अपने शरीर को जल्दी ही विकसित करना चाहते है|तो आपको भैंस के दुग्ध का सेवन करना चाहिये |क्योंकि भैंस के दुग्ध में सबसे ज्यादा फैट पाया जाता है|और इसके साथ ही साथ इसमें कैल्शियम की भी मात्रा बहुत होती है|इसके साथ ही इसमें विटामिन A भी बहुत मात्रा में पाया जाता है|भैंस के दुग्ध में प्रोटिन के साथ आयरन, कैल्शियम और फोस्फोरस भी गाय के दुग्ध के मुकाबले बहुत अधिक पाया जाता है |भैंस के दुग्ध से आप बच्चों के लिये खाना बना सकते है |जैसे की कॉर्नफ्लैक्स, पोडिग्री, सूप, खीर आदि भी हम भैंस के दुग्ध से बना सकते है |

  • गाय का दूध

अगर किसी महिला का दूध नही आ रहा है|तो वो महिला चाहे तो गाय के दुग्ध का सेवन अपने बच्चे को करा सकती है|गाय के दुग्ध को बच्चा आसानी से पचा भी लेता है |जिससे इसके सेवन से बच्चे को किसी भी प्रकार का नुकसान भी नही होता|लेकिन अपने बच्चे को गाय का दूध तभी पिलाये जब आपका बच्चा एक साल का हो जाये |जिससे आपके बच्चे को इसके सेवन से कोई समस्या ना हो |गाय के दूध में आयरन काफी मात्रा में पाया जाता है |जो आपके बच्चे की हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है |

  • ऊंटनी का दूध

यदि आप ऊंटनी के दूध से नफरत करते हैं| तो आपको आज उसके फायदे जान लेना चाहिये|क्योंकि ऊंटनी का दूध हमारे शरीर से बहुत से रोगों को मिटाता है |साथ ही साथ ये हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है|ऊंटनी का दूध दिमागी बीमारी में रामबाण सिद्ध साबित होता है| अगर आपका बच्चा सही से पढ़ नही पा रहा है |

तो आपको अपने बच्चे को ऊंटनी के दुग्ध का सेवन कराना चाहिये |क्योंकि इसका दूध मंद बुद्धि बच्चों के लिए अमृत के समान माना जाता है |इसी लिये राजस्थान की राज्य सरकार ने भी ऊंट को राज्य पशु भी घोषित किया है| ऊंटनी का दुग्ध पीने से हमें मधुमेह, दमा, ऑटिज्म, बच्चों में दुग्ध की एलर्जी, ब्लड प्रेशर सहित विभिन्न रोगों मुक्ति मिलती है |इसके अलावा मलेरिया के उपचार के लिये भी यह दुग्ध काफी फायदेमंद साबित होता है |ऊंटनी के दुग्ध में प्रतिरोधक क्षमता बहुत ज्यादा होती है| जिसको पीने के बाद हमको अनेक रोगों से लड़ने की क्षमता मिलती है|

अगर आपका बच्चा भी कमजोर या फिर मंद बुद्धि है |तो उसको आज ही ये सारे दुग्ध का सेवन कराये जिससे आपके बच्चे का विकाश तेजी से होगा| और आपका बच्चा बीमारी से भी दूर रहेगा | इसी लिये अगर आप भी चाहते है की आपका बच्चा स्वस्थ और दिमागी रूप से बहुत तेज बने तो आपको अपने बच्चे को इन दूधो का सेवन कराना चाहिये |

और पढ़े-(माँ के दूध को बढ़ाने के लिये घरेलु उपाय – HOME REMEDIES TO INCREASE MOTHER’S MILK IN HINDI)

डॉक्टर विक्रांत गौर

डॉक्टर विक्रांत गौर

(B.A.M.S.) रजिस्ट्रेशन न  - DBCP / A / 8062 पूर्व वरिष्ठ सलाहकार  जीवा आयुर्वेद दिल्ली ,  फरीदाबाद मेडिकल सेंटर ,पारख हॉस्पिटल फरीदाबाद में 5 साल का अनुभव  पाइल्स, हेयर फॉल, स्किन प्रॉब्लम, लिकोरिया रोगों  में एक्सपर्ट

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.