बैद्यनाथ लोध्रासव आयुर्वेदिक सिरप है जो विशेष रूप से गर्भवती महिला से जुड़े रोग व लिवर से जुडी समस्या के उपचार के लिये बनाया गया है | यह सिरप गर्भावस्था के समय महिला को उल्टी, कमजोरी, थकान, व रक्त की कमी जैसी समस्या को आसानी से ख़त्म करने में लाभदायक साबित होता है क्योंकि इस सिरप में कई प्रकार की गुणकारी जड़ी-बूटियों को मिलाया जाता है

बैद्यनाथ लोध्रासव सिरप की जुडी जड़ी बूटिया

इस आयुर्वेदिक दवा में मिलाई जाने वाली जड़ी-बूटियों के बारे में :

  • पठानी लोध
  • कचूर
  • पुष्करमूल
  • छोटी इलायची
  • मूर्वा
  • अजवायन
  • हरड़
  • बायबिडंग
  • आंवला
  • बहेड़ा
  • चवय
  • अजवायन
  • प्रियंगु
  • चिकनी सुपारी
  • कुटकी
  • नागरमोथा
  • नागकेशर
  • पीपलामूल

इन जड़ी-बूटियों में एंटी-ऑक्सिडेंट, रोगाणुरोधी, एंटी-इंफ्लेमेटरी, के साथ साथ कैल्शियम, आयरन, फास्फोरस, पोटेशियम, जिंक, कैरोटीन, विटामिन ई और विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, फोलेट व सोडियम जैसे तत्व विद्यमान होते है जो बताये गये रोगों में कारगर साबित होते है अब आइये जानते है इस दवा के होने वाले लाभ के बारे में विस्तार से….

बैद्यनाथ लोध्रासव सिरप के लाभ

लोध्रासव सिरप को मुख्य रूप से गर्भावस्था के समय होने वाली परेशानी व लिवर से जुड़े रोग के उपचार के लिये ही बनाया गया है वैसे इस सिरप के सेवन से आपके शरीर को अन्य कुछ बीमारियों में भी लाभ मिल सकता है तो आइये दोस्तों जानते है इस सिरप के लाभ के बारे में विस्तार से….

गर्भावस्था में महिला को बीमारियों से बचाता है यह सिरप  

गर्भवती महिला को प्रतिदिन कुछ मुश्किलों का सामना पड़ सकता है जैसे कि :

  • कब्ज होना
  • पेट में गैस का बनाना
  • मांसपेशियों में दर्द होना
  • भूख न लगना        

यह सभी समस्या केवल गर्भावस्था के समय महिला के आतंरिक अंगों में हो रहे विस्तार के कारण ही जन्म लेती है यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या का सामना कर रही है तो आप लोध्रासव सिरप के द्वारा अपनी इन सभी समस्यों से छुटकारा पा सकती है यह दवाई गर्भावस्था के समय महिला को पोषण व सभी अंगों को सुचारू रूप से कार्य करने में मदद करती है |

लिवर से जुड़े रोगों को ख़त्म करती है

शरीर में स्थित सभी अंगों की तरह लिवर भी हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग है लेकिन अधिक धुम्रपान व बढ़ते फ़ास्ट फ़ूड की लोकप्रियता के कारण आपका लिवर क्षतिग्रस्त हो सकता है और लिवर में कई प्रकार के रोग जन्म ले सकते है जैसे कि :

  • हेपेटाईटिस
  • फैटी लिवर
  • लिवर सोरायसिस
  • लिवर कैंसर

यदि आप भी लिवर रोग से ग्रस्त है तो आप बैद्यनाथ लोध्रासव सिरप के द्वारा अपने लिवर को स्वस्थ बना सकते है यह सिरप पीड़ित व्यक्ति लिवर में मौजूद गंदगी व संक्रमण को खत्म करके मर्ज के लिवर को स्वस्थ बनाता है |

यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन को ख़त्म करती है यह दवाई

मूत्र मार्ग संक्रमण यूटीआई बैक्टीरिया की वजह से जन्म लेता है इस रोग में मरीज के मूत्र थैली व मूत्रवाहिनी में सुजन आ जाती है जिससे मूत्रत्याग के समय तेज दर्द की अनुभूति होती यदि आप भी कुछ इसी प्रकार के रोग से ग्रस्त है तो आप बैद्यनाथ लोध्रासव के द्वारा इस बीमारी को आसानी से ख़त्म कर सकते है यह सिरप पीड़ित व्यक्ति के शरीर में मौजूदसंक्रमण व सुजन को ख़त्म करके आपको स्वस्थ बनाने का काम करती है |

इस सिरप को सेवन करने का तरीका

पीड़ित व्यक्ति को इस दवा का सेवन नियमित सुबह शाम भोजन के बाद करना चाहिये  इस सिरप का सेवन एक एक चम्मच के रूप में ही करे | शुगर रोगियों को इस दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह से करना चाहिये अथवा बच्चों को इस दवा के सेवन से दूर रखे |

नोट :- अगर आप इस दवा का अधिक सेवन करते हो तो आपको दस्त व मतली या उलटी की समस्या हो सकती है |

मानवेन्द्र सिंह

मानवेंद्र सिंह सॉफ्ट प्रमोशन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड में फिटनेस और हेल्थ ब्लॉगर हैं। उन्होंने 2006 में BHM स्नातक की डिग्री ली है। उन्हें स्वास्थ्य एवं विज्ञान अनुसंधान के क्षेत्र में लेखन का आनंद मिलता है।

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.