कमर दर्द को कैसे करे दूर ? कमर दर्द से बचाव के तरीके |

0
179
कमर दर्द को कैसे करे दूर उसके बचाव

भाग दौड़ भरी जिन्दगी में कमर दर्द होना एक आम समस्या है | बच्चो से लेकर वयस्क तक कमर दर्द से पीड़ित हो सकते हैं | कमर दर्द में आमतौर पर पीठ में खिचाब या अकड़न महसूस होती है | मनुष्य की कमर – मासपेशियो, स्नायुबधन, नसों, डिस्क, और हड्डियों से बनी एक जटिल संरचना है | हमारी रीढ़ की हड्डी के खण्डो को डिस्क से जोड़ा जाता है | इन घटकों में से किसी के साथ होने वाली समस्या से कमर दर्द हो स कता है |

कमर दर्द क्यों होता है ?

ऑसटियोंआर्थराइटिस  से ग्रसित रोगियों को सामान्यता कूल्हों, पीठ के निचले हिस्से, घुटनों, और जोड़ो की समस्याओं का सामना करना पड़ता है | कुछ मामलो में रीढ़ की हड्डी में संकुचन विकसित हो सकता है | जिसमे रीढ़ की हड्डी के आसपास की जगह संकीर्ण हो जाती है और कमर दर्द होने का कारण बनता है |

  • रोगी के शरीर का तापमान बहुत अधिक है तथा कमर का भी हिस्सा गर्म है, तो ऐसा रीढ़ की हड्डी के संक्रमण के कारण हो सकता है |
  • अन्य व्यक्तियोंकी तुलना में नीद की बीमारियों से ग्रसित व्यक्तियोंमें कमर दर्द की समस्या अधिक देखी जाती है |
  • यदि रीढ़ असामान्य तरीको से टेढ़ी हो जाती है | तो व्यक्ति को कमर दर्द की समस्या अधिक होती है |
  • किसी भी प्रकार का संक्रमण जो तंत्रिकाओ को प्रभावित कर सकता है , इस परेशानी का कारण बन सकता है | यह प्रभावित तंत्रिकाओ पर निर्भर करता है |
  • यदि कोई गद्दा शरीर के भागो को आराम नहीं पहुचाता है और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखने में बाधक बनता है, तो कमर दर्द बढने का खतरा अधिक होता है |

कमर दर्द से बचाव :

आप अपनी शारीरिक स्थिति में सुधार करके और उचित शारीरिक प्रक्रियाओ को सीखकर व अभ्यास करके कमर दर्द से बचने या उसकी पुनरावृत्ती को रोकने में सक्षम हो सकते है |

  • अपने डेस्क से न कूदे , इससे आपकी मांसपेशियो में तनाव बड़ा सकता है, जो की इस समस्या का एक कारण बन सकता हैं |
  • अनुचित ढंग से किसी भारी सामान को उठाने से बचें |
  • ऊची एड़ी की चप्पल न पहने, ये आपके भार केंद्र को बदल सकता है और आपकी कमर के निचले हिस्से में खिचाव उत्पन कर सकती है |
  • गलत मुद्रा आपकी कमर पर खिचाव व दबाब बढ़ा सकती है | और आपकी रीढ़ की संरचना में परिवर्तन कर सकती है |

अपनी कमर को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए –

  • मासपेशियो को मजबूत और लचीला बनाएं पेट और पीठ की मासपेशियो के वयायाम इन मासपेशियो की हालत में सुधार करते है, जिससे वे आपकी कमर के लिए एक प्राक्रतिक कोर्सेट का काम करे | आपके कूल्हों और पैरों के उपरी भागो में लचीलापन आपकी पेल्विक हड्डियों को संरेखित करता है | ताकि आपकी कमर को आराम मिल सके |
  • सतर्कतापूर्वक भार उठाएं जहां तक हो सके, भारी सामान कम ही उठाएं | फिर भी सामान उठाना ही है, तो अपने पैरों को काम करने दे, अपनी पीठ को सीधा रखे, वजन के साथ न घूमे | केवल घुटनों पर ही झुके भार अपने शरीर के नजदीक पकड़ कर रखे |
  • ठीक तरह से बैठें कमर के निचले हिस्से व हाथो को सहारा देने वाली कुर्सी चुने | अपनी कमर के पीछे एक तकिया रखे | और हो सके तो हर आधे घंटे में अपनी बेठने की मुद्रा को बदलते रहे |
  • वयायाम नियमित रूप से किया गया वयायाम और रोज सुबह का घूमना इस समस्या के लिए काफी असरदायक होता है |

बार बार होने वाली इस समस्या को रोकने या राहत देने के लिए कई उपाय उपलब्ध है, अपनी कमर दर्द को सही करने के लिए आप क्या क्या उपाये करते है लेकिन आराम नहीं मिलता है | आप इन उपायों को एक बार अपना कर जरुर देखे आपको फायदा होगा | साथ ही ताज़ी सब्जियों और फलो का सेवन करे, जिससे आपका स्वास्थ भी सही रहेगा |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.