मासिक धर्म में पेट दर्द दूर करने के घरेलू उपाय – Stomach pain in menstruation

0
247
मासिक धर्म में पेट दर्द दूर करने के आसान घरेलु उपाय

दोस्तों मासिक धर्म में पेट दर्द दूर करने के आसान घरेलु उपाय जानना बहुत जरुरी और उपयोगी है क्योकि मासिक धर्म / माहवारी यानि की पीरियड्स महिलाओ में होने वाली एक प्राकर्तिक प्रक्रिया है | जो हर महीने में महिलओं को 3 से 7 दिन के लिये होती है | ज्यादातर लडकियों को 11 से 15 साल की उम्र में पीरियड्स आने शुरू हो जाते है |

कुछ लडकियां पीरियड्स के दौरान खून आने के कारण घबरा जाती है मगर इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं है ये महिलाओं में होने वाली एक सामान्य सी प्रक्रिया है | महिलाओं को मासिक धर्म यानि की पीरियड्स के समय पेट दर्द , कमर दर्द और भी कई समस्याओं का सामना कर पड़ता है |

कई बार तो पीरियड्स में दर्द इतना ज्यादा बढ़ जाता है की असहनीय हो जाता है और अस्पताल तक जाने की नौबत बन जाती है | पीरियड्स के समय शरीर में कमजोरी , थकान के साथ स्वभाव में चिडचिडापन भी आ जाता है | यंहा तक की छोटे मोटे काम करने में भी परेशानी महसूस होने लगती है | ये दर्द मुख्यता  पेट के निचले हिस्से और पीठ में होता है |

विषय सूची

पीरियड्स / माहवारी / मासिक धर्म में पेट दर्द क्यों होता है ?

कम उम्र की लडकियों को पीरियड्स के समय ज्यादा असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है लेकिन 20 साल से कम उम्र की लडकियों को पीरियड्स के समय पेट के निचले हिस्से और कमर के निचले हिस्से में ज्याद दर्द का सामना करना पड़ता है | मासिक धर्म की शुरुआत में महिलाओं को 1 – 2 दिन ज्यादा दर्द महसूस होता है और वंही कुछ महिलाओं को तो मासिक धर्म शुरू होने के पहले ही दर्द महसूस होना शुरू हो जाता है |

पीरियड्स में दर्द के लिए मुख्य कारण इसके समय ज्यादा मात्रा में खून का बहना होता है | स्वस्थ के लिये हानिकारक आदते जैसे धुम्रपान , अधिक मात्रा में शराब का सेवन करना भी ज्यादा दर्द होने का प्रमुख कारण बनती है | ज्यादातर महिलाओ में मासिक धर्म के दौरान होने बाला दर्द उनके पहले बच्चे के जन्म के बाद बिलकुल कम या पूरी तरह से खत्म हो जाता है |

माहवारी / पीरियड्स / मासिक धर्म में पेट दर्द होने का घरेलु इलाज

  • गर्म पानी के द्वारा सिकाई करके करे मासिक धर्म में पेट दर्द दूर : –

मासिक धर्म के समय होने वाले दर्द को दूर करने के लिए गर्म पानी से सिकाई एक सफल घरेलु उपाय होता है , गर्म पानी से सिकाई करने पर गर्भाशय की माश्पेसिया शांत हो जाती है | जिससे दर्द में आराम मिलता है |

इसके लिए आप रबर के बैग या प्लास्टिक की बोतल में गर्म पानी भरकर पेट के निचले हिस्से की अच्छे से सिकाई करके दर्द को खत्म कर सकते है या फिर आप गर्म पानी में एक तौलिये को भिगोकर अपने पेट की सिकाई अच्छे से कर सकते है |

  • दालचीनी का प्रयोग करके करे मासिक धर्म में पेट दर्द दूर: –

दालचीनी में कैल्शियम फाइबर और आयरन काफी अच्छी मात्रा में पाए जाते है , इसके साथ ही इसमें कई ऐसे भी गुण पाये जाते है जो पीरियड्स के समय दर्द और सुजन को ख़तम करने में सहायता करते है |

एक गिलास गुनगुने पानी में एक चमच्च दालचीनी और एक चमच्च शहद मिलाकर पीरियड्स शुरू होने वाले दिन 2 से 3 बार पीने से आराम मिलता है |

  • सौंफ का प्रयोग करके करे मासिक धर्म में पेट दर्द दूर : –

सौंफ मासिक धर्म के दौरान होने वाली पेट में ऐठन और बैचनी को दूर करके आराम प्रदान करता है एक कप उबलते हुये पानी में एक चमच्च सौंफ की डाले और अब धीमी आंच पर इसे पांच मिनट तक उबलते रहने दे |

अब इसे ठंडा करके इसमें एक चमच्च शहद की मिला ले इस हर्बल चाय को दिन में नियम से दो बार पीरियड्स के शुरूआती 2 – 3 दिनों तक पीते रहे आराम मिलेगा |

  • अदरक का प्रयोग करके करे मासिक धर्म में पेट दर्द दूर : –

अदरक को भी मासिक धर्म के दौरान दर्द दूर करने के लिए एक सफल घरेलु उपाय माना जाता है | पेट और कमर में दर्द होने का एक प्रमुख कारण प्रोस्तेग्लेंदिस नाम का केमिकल होता है जो महिलाओं के गर्भाशय में होता है अदरक एक दवा के रूप में काम करता है |

इस दर्द बढाने वाले केमिकल को कम करता है जिससे आपको पेट और कमर दर्द में छुटकारा मिल जाता है |एक कप पानी में एक अदरक का छोटा सा टुकड़ा डालकर उबले और थोडा ठंडा होने पर इसमें एक चमच्च शहद मिलकर उसमे एक चमच्च निम्बू मिलाकर इस चाय को माहवारी के दिनों में 2 से 3 बार पीयें |

  • तुलसी का प्रयोग करके करे मासिक धर्म में पेट दर्द दूर : –

पांच तुलसी के पत्ते लेकर उसे उबलते हुये पानी में डालकर अच्छे से ढक कर रख दे , ठंडा होने पर इसे दिन में 3 se 4 बार रोजाना पियें इस हर्बल पेय का सेवन करके आप दर्द को आसानी से दूर कर सकते है |

  • पपीता का प्रयोग करके करे मासिक धर्म में पेट दर्द दूर

पीरियड्स में पेट दर्द दूर करने के लिये पपीता का फल एक असरदार औषधि के रूप में काम करता है , इसमें भरपूर मात्रा में आयरन , विटामिन ए , कैरोटिन , कैल्शियम और मिनरल्स भरपूर मात्रा में पायें जाते है |

पपीता महिलाओ के गर्भाशय में होने वाले दर्द को खत्म करने में मदद करता है, जिससे दर्द में राहत पाने में मदद मिलती है | पीरियड्स आने के पहले या शुरुआत में ही पपीते को अपने खाने में शामिल करे और हमेशा के लिये दर्द से छुटकारा पा लें |

  • धनिये का प्रयोग करके करे मासिक धर्म में पेट दर्द दूर

अगर आप अनियमित माहवारी के साथ असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है तो धनिया आपके मासिक धर्म सम्बन्धी रोग के लिये एक रामबाण घरेलू उपाय की तरह काम करता है|

कुछ धनिये के बीज लेकर उन्हें एक कप पानी में डालकर अच्छे से उबाल ले और पीरियड्स वाले दिनों में इस पेय का नियमित रूप से रोजाना सेवन करे|

नियमित रूप से इसका सेवन करने से आपकोअपने असहनीय दर्द की समस्या से छुटकारा मिल जायेगा|

माहवारी / मासिक धर्म / पीरियड्स के दौरान सावधानियाँ और परहेज :

पीरियड्स के दौरान साफ़ सफाई का विशेष ध्यान रखना एक महत्वपूर्ण सावधानी मानी जाती है |इस समय के दौरान गुप्तांगो में इन्फेक्शन होने का खतरा बहुत अधिक रहता है |

इसलिए इन दिनों में गुप्तांगो की सफाई का विशेष ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है | पीरियड्स के दौरान अधिक तले भुने खाने से परहेज करना चाहिए और जितना ज्यादा हो सके अधिक मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए |

और पढ़ें – गर्भधारण कैसे करें ? जल्द गर्भवती बनने के उपाय- How A Women Get Pregnant

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.