घरेलु नुस्खे से रोके थयराइड

घरेलु नुस्खे से रोके थायराइड | थायराइड गले की ग्रंथि है| जिससे थयोक्सीन हार्मोन्स बनता है| जब ये हार्मोन्स कम हो जाते है| तब ये रोग का कारण बनने लगते है| और शरीर का मेटाबोलिज्म काफी तेज होने लगता है| और शरीर की ऊर्जा जल्दी खत्म होने लगती है| वही दूसरी और ये हार्मोन्स अधिक हो जाये, तो मेटाबोलिज्म धीरे होने लगता है| और ऊर्जा कम बनती है| सुस्ती, धकान बढ़ने लगती है|

थायराइड दो तरह का होता है|

  • हाइपरथायराइड होने पर शरीर में थायराइड हार्मोन्स कम होने लगते है|
  • हाइपोथायराइड होने पर शरीर में थायराइड हार्मोन्स बढ़ने लगते है|

थायराइड ग्रंथि का क्या काम होता है?

थायराइड ग्रंथि हमारे शरीर के सभी अंगो को सही तरह से काम करने में मदद करती है| और जरूरत के अनुसार हार्मोन्स बनाने के लिए थायराइड आयोडीन का प्रयोग करती है| और शरीर के दुसरे अंगो तक पहुचता है|

  • शरीर का तापमान नियंत्रण करने में मदद करता है|
  • जहरीले पदार्थ को शरीर से बहार करने में सहायक होती है|
  • बच्चो के मानसिक और शारीरिक विकास में थायराइड ग्रंथि की महत्वपूर्ण भूमिका होती है|

हाइपर थायराइड के लक्षण

हाइपर थायराइड हो जाने पर आप कैसे जान सकते है, आपको हाइपर थायराइड हुआ है| हाइपर थायराइड के निम्न लक्षण है|

  • वजन कम होना |
  • हार्ट बीट तेज होना |
  • पसीना ज्यादा आना |
  • हाथ और पैरों में कप कपी या झनझनाहत होना |

हाइपो थायराइड होने के लक्षण

  • वजन बढ़ना |
  • भूख कम लगना |
  • स्किन रुखी होना |
  • आवाज में भारीपन आना |
  • कब्ज होना |
  • ज्यादा ठण्ड लगना |
  • आँखों, चेहरे पर सुजन आना |
  • सिर, गर्दन और जोड़ो में दर्द होना |

घरेलु नुस्खे से रोके थायराइड

  • काली मिर्च: थायराइड के इलाज के लिए काली मिर्च बहुत फायदेमंद है| इसका आप किसी भी रूप में सेवन का सकते है|
  • अश्वगंधा: रोज रात को सोने से पहले अश्वगंधा चूर्ण को गाय के गुनगुने दूध के साथ लेने से काफी आराम मिलता है|
  • लोकी का जूस: रोजाना सुबह खाली पेट लोकी का जूस पीने से थायराइड को खत्म करने में मदद मिलती है| जूस पीने के बाद आधा घंटे तक कुछ खाना पीना नहीं चाहिए|
  • लाल प्याज: रात को सोने से पहले एक प्याज को दो टुकडो में काट ले, और उससे थायराइड ग्रंथि के पास मसाज करे, इससे आपको फायदा होगा|
  • हल्दी वाला दूध: थायराइड को नियंत्रण में करने के लिए आपको रोज रात को दूध में हल्दी पका कर पीने से राहत मिलती है|
  • एलोवेरा और तुलसी: दो चम्मच तुलसी के रस में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिला कर सेवन करने से थायराइड की बीमारी से छुटकारा मिलता है|
  • बादाम और अखरोट: बादाम और अखरोट में सेलिनियम तत्व मौजूदहोता है| इसके सेवन से गले की सुजन में आराम मिलता है| यह हाइपोथायराइड में ज्यादा फायदा करता है|
  • एक्सरसाइज: रोजाना आधा घंटे एक्सरसाइज करने से थायराइड बढ़ता नहीं है| और नियंत्रण में रहता है|
  • हरा धनिया: हरा धनिया पीस कर चटनी बना ले फिर इसे एक गिलास पानी में एक चम्मच घोल कर पिए, ऐसा रोज करने से थायराइड की समस्या कम होने लगेगी, चटनी रोज ताज़ी बनाना है|
  • टमाटर: थायराइड को नियंत्रित करने के लिए रोज दो टमाटरो का जूस बना कर पिए, जिससे आपको पूरी मात्रा में आयोडीन मिलेगी|

थायराइड से ग्रसित लोगो को अपनी डाइड में विटामिन ए अधिक मात्रा में लेना चाहिए|जो हरी सब्जियों से मिलती है|थायराइड कोलेस्र्टोल, दिल, हड्डियों, और मासपेशियो पर असर डालती है|अगर आप थायराइड जड़ से खत्म करना चाहते है|तो आपको इसका परहेज और नियमित इलाज लेना होगा|

घेंघा रोग का घरेलु उपचार |

मानवेन्द्र सिंह

मानवेन्द्र सिंह

मानवेंद्र सिंह सॉफ्ट प्रमोशन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड में फिटनेस और हेल्थ ब्लॉगर हैं। उन्होंने 2006 में BHM स्नातक की डिग्री ली है। उन्हें स्वास्थ्य एवं विज्ञान अनुसंधान के क्षेत्र में लेखन का आनंद मिलता है।

Leave a comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.