खुजली को जड़ से खत्म करने के रामबाण उपाय – Itching Treatment In Hindi

0
405
खुजली को जड़ से खत्म करने के रामबाण उपाय - Itching Treatment In Hindi

खुजली त्वचा से जुडी परेशानी है | इस परेशानी में त्वचा पर लाल रंग के छोटे – छोटे दाने हो जाते है | लाल रंग के दानो पर खुजाने से त्वचा पर जलन और निशान होने लगते है | इस रोग जो एक्जीमा रोग भी कहा जाता है , जो अकसर हाथो , कमर , चेहरे , गले , पैरो तथा शरीर के गुप्त अंगो के आसपास भी हो जाती है | ज्यादा लम्बे समय तक त्वचा के गीले रहने पर त्वचा में यह समस्या होना चालू हो जाती है | रुखी त्वचा पर भी यह समस्या ज्यादा होती है | इस रोग के उपचार के लिए अनेक प्रकार की एंटी फंगल क्रीम और दवाए भी आती है | परन्तु आप इसके अलावा घर पर ही कुछ घरेलू उपचार की मदद से इस रोग को जड़ से ठीक कर सकते है | तो आइये जानते है खुजली को ठीक करने के लिए कुछ लाभकारी घरेलू उपायों के बारे में –

खुजली के प्रकार

खुजली मुख्यतः चार प्रकार की होती है –

1. बिना दानों वाली खुजली

2. दाने वाली खुजली

3. बिना दाने या दाने वाली खुजली के कारण खुजली के अन्य लक्षण उत्पन्न होते हैं। खुजली पूरी त्वचा, सिर, मुंखपांव अंगुलियों, नाक, हाथ या प्रजनन अंग आदि अंगों में हो जाती है। यह रोग अधिकतर इन्हीं स्थानों पर होती है।

4. बिना दानों वाली या दानों वाली खुजली खुश्क या तर हो सकती है।

खुजली होने के कारण 

  • जलन और एलर्जी होने से |
  • आंतरिक रोग के कारण |
  • त्वचा सुखी होने से |
  • ज्यादा पसीना आने से |
  • फंगल इन्फेक्शन के कारण भी हो जाती है |
  • त्वचा में संक्रमण के कारण भी हो जाती है |
  • ज्यादा तेल मसाले वाले भोजन के कारण |
  • खून दूषित होने के कारण |

खुजली होने पर लक्षण 

  • त्वचा का रंग लाल हो जाना |
  • ज्यादा जलन महसूस होना और ज्यादा खारीस होना |
  • त्वचा पर छोटे – छोटे दाने निकलना |

खुजली को ठीक करने के लिए प्राकर्तिक उपचार

1. नींबू 

इसको उपयोग करने का तरीका –

  • यदि शरीर में यह समस्या ज्यादा हो तो केले के गूदे को पीसकर उसमे नींबू के रस को मिलाकर इस रोग वाले स्थान पर लगाने से बहुत जल्दी यह समस्या ठीक हो जाती है |
  • चन्दन के तेल में नींबू का रस मिलाकर खुजली वाली जगह पर 5-6 बार लगाने से यह समस्या बहुत जल्द दूर हो जाती है |
  • सुखी खुजली दूर करने के लिए चमेली के तेल में बराबर मात्रा में नींबू का रस मिलाये और इससे मालिश करे |

2. पीपल की छाल 

इसको उपयोग करने का तरीका –

  • इस  समस्या से परेशान व्यक्ति को सुबह – शाम पीपल की छाल का 40 मिलीलीटर काढ़ा पिलाने से उसकी समस्या बहुत जल्दी ठीक हो जाएगी |
  • इस परेशानी में 40 ग्राम राख और थोडा चूना और घी को मिलाकर सही तरह से घोल कर पेस्ट बना ले फिर इसे आप प्रभावित वाली जगह पर लगाने से बहुत ज्यादा फायदा मिलता है |
  • पीपल की छाल को अच्छी तरह पीसकर शुद्ध घी में मिलाकर इसे खुजली वाले स्थान पर लगाये | इसके इस्तेमाल से यह समस्या बहुत जल्द दूर हो जाती है |

3. नारियल 

इसको उपयोग करने का तरीका –

  • 100 मिलीलीटर नारियल के तेल को हल्का सा गर्म करके उसमे 10 ग्राम कपूर मिलाकर प्रभावित हिस्से वाले स्थान पर लगाने से यह समस्या तुरंत दूर हो जाती है | कपूर में त्वचा को सुन्न करने के गुण पाया जाता है |
  • नारियल के तेल में नींबू का रस मिलाकर प्रभावित हिस्से वाले स्थान पर मालिश करने से यह समस्या ठीक हो जाती है |
  • 10 ग्राम पीसी हुई गंधक को 100 मिलीलीटर नारियल के तेल में मिलाकर लगाने से इस रोग में बहुत आराम मिलता है |

4. कपूर

इसको उपयोग करने का तरीका –

  • 10 ग्राम कपूर , 10 ग्राम सफेद कत्था तथा 4 ग्राम सिंदूर को ले और एक साथ करके इन सब को  कांसे के बर्तन में डाल दे और उसमे ऊपर से 100 ग्राम घी को भी डाल दे फिर हाथो से इसे अच्छी तरह मिलाये | और बाद में दो बार पानी से इसे धो ले | इस लेप शरीर में प्रभावित हिस्से वाली जगह पर लगाने से यह समस्या बहुत जल्द ठीक हो जाती है |
  • इस समस्या को ठीक करने के लिए आप कपूर को चमेली के तेल में मिलाकर मालिश करे |

5. तुलसी 

इसको उपयोग करने का तरीका

  • तुलसी के रस को तिली के तेल में मिलाकर उस जगह पर लगाने से यह समस्या बहुत जल्द ठीक हो जाती है |
  • तुलसी में कई प्रकार के औषधीय गुण  पाए जाते है |
  • तुलसी ऐसी औषधि है जो बहुत सी बीमारियों को ठीक करने के काम आती है। इसका उपयोग सर्दी-जुकाम, खॉसी, दंत रोग और श्वास सम्बंधी रोग के लिए किया जाता है |

6. त्रिफला 

इसको उपयोग करने का तरीका

  • 20 से 90 मिलीलीटर त्रिफला के रस को प्रतिदिन 3 – 4 बार पीने से खून साफ़ हो जाता है |
  • खाज – खुजली तथा त्वच के अन्य रोग भी ठीक हो जाते है |
  • त्रिफला के सेवन से यह समस्या बहुत जल्द ठीक हो जाती है |

खुजली होने पर कुछ सावधानियां 

  • इस परेशानी में  साफ़ सफाई का बहुत ध्यान रखना चाहिए |
  • रोजाना नियमित रूप से स्नान करना चाहिए |
  • खुजली वाले स्थान पर नंगे हाथो से नही छूना चाहिए बल्कि एक साफ़ सुथरे कपड़े की मदद से उसपे हल्के हाथो से सहलाना चाहिए |
  • मॉइस्चराइजर युक्त साबुन का उपयोग करना चाहिए |
  • ठंडे पानी से खुजली वाले स्थान को अच्छी तरह से साफ करना चाहिए |
  • साफ – सुथरे कपड़े पहनना चाहिए |
  • गीले वस्त्र न पहने क्योकि गीले वस्त्र पहनने से फंगल इन्फेक्शन हो जाता है |
  • नमक का सेवन बंद कर दे , लेकिन आपको जरूरी हो तो बहुत कम मात्रा में नमक का सेवन कर सकते है |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.